TET का फुल फॉर्म Teacher Eligibility Test होता है। हिंदी में इसे हम शिक्षक पात्रता परीक्षा कहते हैं।

TET एक तरह की परीक्षा होती है।

अगर आप एक गवर्नमेंट स्कूल में टीचर बनना चाहते हैं तो तब आपको TET एग्जाम क्लियर करना होता है। तभी आप गवर्नमेंट स्कूल में टीचर बनते हैं।

आप क्लास 1st से लेकर 8th तक के अगर किसी भी गवर्नमेंट स्कूल में टीचर बनना चाहते हैं तब आपको पहले TET एग्जाम क्लियर करना होता है।

अब यह जो TET  रहते हैं इसमें 2 टाइप्स के एग्जाम रहते हैं। एक तो C TET रहता है और दूसरा TET होता है स्टेट लेवल का।

अगर आप TET एग्जाम क्लियर कर लेना चाहते हैं या देने चाहते हैं तो इसके  लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया है – – 12th pass + BEd – Graduation + BEd

अगर आपने BEd कोर्स नहीं किया है, इसकी जगह आपने कोई डिप्लोमा कोर्स किया हुआ है तब भी आप एलिजिबल रहते हैं TET एग्जाम देने के लिए।

यहाँ पर अगर आप TET एग्जाम देते हैं तो मिनिमम 18 और मैक्सिमम 35 साल ऐज लिमिट रखी गई है। यह जनरल केटेगरीज़ के लिए है।

और ज्यादा WEB STORIES देखने के लिए निचे क्लिक करें। 

CLICK HERE