PHD का फूल फॉर्म होता है Doctor of Philosophy, जिसे शार्ट में हम Ph.D कहते हैं।

इस कोर्स की जो अवधि होते हैं यह 3 साल से लेकर 5 साल तक होती है। PHD जनरली वही लोग करते हैं जिन्हे आगे चलकर रिसर्च फील्ड में अपना करियर बनाना हो या फिर जिन्हे टीचिंग में करियर बनाना हो उसके लिए PHD करना जरुरी होता है।

अगर आप PHD करना चाहते हैं, अपने नाम के आगे डॉक्टर लगाना चाहते हैं तो उसके लिए जरुरी है कि आपका पोस्ट ग्रेजुएशन जरुरी होना चाहिए। पोस्ट ग्रेजुएशन कम्पलीट करने के लिए जरुरी है कि अपने 12 वी में अच्छे से पढाई की हो। उसके बाद आपने अपना ग्रेजुएशन कम्पलीट किया हो। उसके बाद अपने अपना पोस्ट ग्रेजुएशन भी कम्पलीट किए हो

ग्रेजुएशन में कम से कम आपके 50% और 60% मार्क्स होने चाहिए और अगर हम पोस्ट ग्रेजुएशन की बात करे तो इसमें अपने 60% मार्क्स होने ही चाहिए। किसी-किसी यूनिवर्सिटी में 55% में भी आपका एडमिशन हो जाता है

PHD करने के तो बहुत सारे फायदे हैं लेकिन जो सबसे बड़ा फायदा है वह आप सभी को दीखता होगा कि अगर कोई PHD कर लेता है तो उसके नाम के आगे डॉक्टर लग जाता है जो कि बहुत ही ज्यादा इम्प्रेसिव लगता है।

PHD के बारे में और अधिक जानने के लिए निचे क्लिक करे 

Arrow