इस सर्विस का यूज़ करने के लिए आपके पास किसी भी बैंक में अकाउंट होना चाहिए और फिर आप अपने बैंक में जाकर नेट बैंकिंग का फॉर्म फील अप कर दे और उसके बाद आपको बैंक की तरफ से अगले दिन आपको Net Banking का यूजर नेम और पासवर्ड दे दिया जायेगा और फिर आप नेट बैंकिंग का उसे कर सकते हैं।

Net Banking एक ऐसा ऑनलाइन सिस्टम है जिसके जरिए हम अपने बैंक अकाउंट का बैलेंस ऑनलाइन  चेक कर सकते हैं। आप अपने बैंक बैलेंस की 10 ट्रांज़ैक्शन भी चेक कर सकते हैं। जिसके जरिए आपको यह पता चल जाएगा कि आपके अकाउंट में 10 बार क्या क्या ट्रांज़ैक्शन हुआ है।

Net Banking एक सिक्योर सर्विस है। यह HTTPS से लेस है और इसे कोई हैक नहीं कर सकता। आपका अकॉउंट बैलेंस बिलकुल सेफ रहेगा।

अगर आपके पास Net Banking की सर्विस है तो आप अपने नेट बैंकिंग के जरिए ऑनलाइन अकाउंट क्रिएट कर सकते हैं।

ऑनलाइन नेट बैंकिंग के जरिए अगर आप RD अकाउंट क्रिएट करते हैं तो आपको बैंक में हर महीने जाने की जरुरत नहीं पड़ेगी क्यों की नेट बैंकिंग ऑटो कट पेमेंट का ऑप्शन देती है जिसके जरिए हर महीने आपके अकाउंट  में से बैलेंस कट करके आपके RD अकाउंट में जुड़ जाएगा।

अगर आपके पास नेट बैंकिंग है तो फिर आपको कहीं पर भी जाने की जरुरत नहीं पड़ेगी क्यों कि नेट बैंकिंग अपने कस्टमर्स के लिए ऑनलाइन पेमेंट्स ट्रांसफर करने का ऑप्शन रखती है जिसकी मदद से हम अपने फॅमिली या फ्रेंड्स को पैसे ट्रांसफर भी कर सकते हैं वो भी घर बैठे बड़ी आसानी से।

नेट बैंकिंग का यूज़ आप सरकारी फॉर्म में भी यूज़ कर सकते हैं क्यों कि कई बार ऐसा होता है कि आप कोई ऑनलाइन फॉर्म अप्लाई करते हैं और फॉर्म अप्लाई करने के बाद जब ऑनलाइन पे वाला पेज आता है तो आपको उस फॉर्म की फी सबमिट करने के लिए 2 ऑप्शन जरूर आता है। ऑप्शन 1 – नेट बैंकिंग और ऑप्शन 2 – चालान।

ऐसे में आपके पास नेट बैंकिंग नहीं है तो आपको अपने फॉर्म के फीस का चालान बैंक में जाकर चालान की फीस सबमिट करवानी पड़ती है। अगर ऐसे में आपके पास Net Banking का सर्विस है तो आप इस फॉर्म की फीस ऑनलाइन उसी टाइम ही करवा सकते हैं।

अगर आपका ATM कार्ड खो जाता है तो आप बैंक में जाकर अपने ATM कार्ड को ब्लॉक करवाते हैं लेकिन नेट बैंकिंग के जरिए आप उसे घर में बैठे ब्लॉक करवा सकते हैं।