What is No Cost EMI in Hindi | No Cost EMI क्या होता है

What is No Cost EMI in Hindi | No Cost EMI क्या होता है

Posted by

What is No Cost EMI in Hindi: जब भी आप ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो आपको काफी सारे प्रोडक्ट्स पर यह लिखा हुआ शो होता है No Cost EMI, तब आप लोग यह सोचते होंगे कि No Cost EMI क्या होता है। तो इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं No Cost EMI क्या होता है, इससे कंपनी, कस्टमर और बैंक को क्या फायदा होता है।

No Cost EMI क्या होता है?

जब भी आप कोई प्रोडक्ट पर्चेस करते हैं तो उस पर No Cost EMI लिखा होता है। इसका मतलब यह होता है कि उस प्रोडक्ट का जो भी प्राइस है आपको उसी प्राइस को EMI के थ्रू पे करना है लेकिन आपसे कोई किसी भी तरह का कोई एक्स्ट्रा चार्ज, इंटरेस्ट वगेरा वसूला नहीं जाएगा। तो इसी को No Cost EMI कहा जाता है।

Example – अगर आप कोई मोबाइल फ़ोन पर्चेस कर रहे हैं और उसका प्राइस है 12,000 रुपये तो आपको उन्ही 12,000 रुपये 3 EMI के थ्रू पे करना होता है और उसमें आपको कोई एक्स्ट्रा चार्ज नहीं देना होता है आपको पूरा 12,000 रुपये ही पे करने होते हैं। लेकिन No Cost EMI के लिए एक शर्त यह है कि आपके पास क्रेडिट कार्ड होना चाहिए क्योंकि अगर आपके पास क्रेडिट कार्ड नहीं है तो आप No Cost EMI वाला ऑप्शन नहीं ले सकते हैं।

No Cost EMI से कंपनी, कस्टमर और बैंक को क्या फायदा होता है?

सबसे बड़ा फायदा तो इससे कस्टमर को होता है कि कस्टमर को कोई एक्स्ट्रा पैसे पे नहीं करने होते हैं और काफी थोड़े पैसों में ही उसका काम हो जाता है।

Example – आपके पास ज्यादा पैसे नहीं है 4,000 रुपये है और आप 12,000 रुपये वाला फ़ोन खरीदना चाहते हैं तो आप इस महीने 4,000 रुपये देंगे, नेक्स्ट महीने आप फिरसे 4,000 रुपये देंगे और फिर नेक्स्ट महीने आप 4,000 रुपये और देंगे। तो इस तरह से आप 12,000 रुपये को 3 बार में देंगे। तो इससे आप फ़ोन भी खरीद लेंगे और इससे ज्यादा पैसों का जुगाड़ भी एक बार में नहीं करना पड़ेगा। तो कस्टमर का सबसे बड़ा फायदा होता है।

दूसरी चीज होती है कि कंपनी का इससे क्या फायदा होता है। कंपनी का फायदा यह है कि कंपनी No Cost EMI सिर्फ उसी प्रोडक्ट्स पर लगाती है जिन प्रोडक्ट्स की डिमांड कम होती है क्योंकि कंपनी के वह प्रोडक्ट सेल नहीं हो रहे होते हैं तो कंपनी उन प्रोडक्ट्स पर No Cost EMI का ऑप्शन दे देती है जिससे कंपनी के वह प्रोडक्ट बिक जाते हैं तो इससे कंपनी को भी फायदा होता है।

तीसरे बात आती है की कंपनी को इससे क्या फायदा है। No Cost EMI से बैंक को भी फायदा होता है क्योंकि उनका क्रेडिट कार्ड यूज़ में आता है। जैसे ही आप क्रेडिट कार्ड को यूज़ करते तो बैंक उसका बिल जेनरेट करता है और बिल जेनरेट के साथ साथ वह उसके साथ कुछ न कुछ चार्जेज भी लगा देता है। तो इससे बैंक को भी फायदा होता है।

इस पोस्ट में आपने जाना कि No Cost EMI क्या होता है, इससे बैंक, कंपनी और कस्टमर को क्या फायदा होता है। अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर जरूर करें।

यह भी पढ़े:-

सेविंग बैंक अकाउंट क्या होता है?
Net Banking Kya Hai Hindi
बैंक में कितने प्रकार के खाते होते हैं?
HDFC Bank Classic Banking Kya Hai
बैंक मैनेजर कैसे बने सम्पूर्ण जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.