SDM Full Form | SDM कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में

SDM Full Form | SDM कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में

Posted by

SDM Full Form in Hindi: दोस्तों अगर आप जानना चाहते हैं कि SDM बनने का पूरा प्रोसेस क्या होता है, क्वालिफिकेशन क्या होना जरुरी है, सब्जेक्ट कौन सा होना चाहिए, कौन सा एग्जामिनेशन आपको देना होता है, तो यह पोस्ट आपको अंत तक जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं की SDM बनने का पूरा प्रोसेस क्या होता है और स्टेप बाई स्टेप सारी चीजें कवर करने वाले हैं।

Full Form of SDM in Hindi 

SDM का फुल फॉर्म Sub Divisional Magistrate होता है जिसे हिंदी में ‘उप प्रभागीय न्यायधीश’ भी कहते हैं।

SDM कैसे बने?

SDM दो तरह से बन सकते हैं। एक यूपीएससी सिविल सर्विस परीक्षा (UPSC Civil Service Exam) और दूसरा स्टेट पब्लिक सर्विस कमीशन पीसीएस परीक्षा (State Public Service Commission PCS Exam), तो चलिए इन दोनों तरीकों के बारे में डिटेल में बात करते हैं।

UPSC Civil Service Exam: दोस्तों UPSC Civil Service Examination को क्लियर करने के बाद आप एक IAS Officer बन सकते हैं और IAS Officer की जो पोस्टिंग होती है तो SDM यानि Sub Divisional Magistrate या फिर Sub Character का पोस्ट मिलता है। अधिकतर यह देखा जाता है कि IAS Officer की पहली पोस्टिंग SDM के पर होती है। तो UPSC के थ्रू आप एक IAS Officer बन सकते हैं और IAS Officer बनने के बाद जब आपकी पोस्टिंग होगी तब आपको SDM का पोस्ट मिल सकता है। उसके बाद प्रमोशन से आप DM यानि District Megistrate या District Collector भी बन सकते हैं।

State PSC PCS Exam: यानि कि राज्य लोग सेवा आयोग के द्वारा PCS का एग्जाम कराया जाता है, जिसके जरिए आप एक SDM बन सकते हैं।

SDM बनने का पूरा प्रोसेस

दोस्तों अलग-अलग राज्य की जो लोक सेबा आयोग है यानि जो Public Service Commission है वह PCS का एग्जाम कंडक्ट कराते हैं और इस एग्जामिनेशन में जो कैंडिडेट टॉप रैंक लाते हैं उनको SDM का पोस्ट मिलता है। तो आप स्टेट पीसीएस के एग्जाम के थ्रू भी SDM बन सकते हैं।

UPSC Civil Service Exam के लिए Qualification

UPSC Civil Service Exam के लिए अप्लाई करने के लिए जरुरी है कि आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री हो। अगर अपने किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से ग्रेजुएशन कम्पलीट किया है बैचलर डिग्री कम्पलीट किया है किसी भी सब्जेक्ट में किसी भी स्ट्रीम में तो आप एलिजिबल होते हैं और अप्लाई कर सकते हैं। बहुत सारे स्टूडेंट्स का यह भी सवाल रहता है की जो फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स है ग्रेजुएशन के, वह अप्लाई कर सकते हैं या फिर नहीं कर सकते हैं। तो इसका जवाब है हाँ। अगर आप एक फाइनल ईयर के स्टूडेंट है और फाइनल ईयर एग्जामिनेशन देने वाले हैं तो आप इस एग्जामिनेशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

परसेंटेज कितना आना चाहिए?

इसके लिए परसेंटेज मायने नहीं रखता है। एटलीस्ट पास मार्क्स अगर आपके ग्रेजुएशन में है तो आप इसके लिए एलिजिबल होते हैं और अप्लाई कर सकते हैं।

ऐज लिमिट

UPSC Civil Service Examination के लिए आपकी ऐज कम से कम 21 वर्ष होना जरुरी है। अगर हम बात करे केटेगरी वाइज तो अगर आप General केटेगरी के कैंडिडेट हैं तो आपकी जो ऐज लिमिट है वह 21 – 32 वर्ष है, अगर आप एक OBC केटेगरी के कैंडिडेट हैं तो आपकी जो ऐज लिमिट है 21-35 वर्ष है, अगर आप एक SC / ST केटेगरी के कैंडिडेट हैं तो आपकी जो ऐज लिमिट है 21 – 37 वर्ष है। अटेम्प्स की बात करे तो General केटेगरी के कैंडिडेट्स को 6 अटेम्प्स मिलते हैं यानि 6 बार एग्जामिनेशन दे सकते हैं, OBC केटेगरी के कैंडिडेट्स को 9 अटेम्प्स मिलते हैं और अगर आप एक SC / ST केटेगरी के कैंडिडेट हैं तो आप जितनी बार चाहे उतनी बार एग्जामिनेशन दे सकते हैं।

State PSC PCS Exam के लिए Qualification

अगर आप एक State PCS के लि अप्लाई करना चाहते हैं तो उसके लीये जरुरी है कि आपके पास पास ग्रेजुएशन की डिग्री हो बैचलर डिग्री हो। अगर आपने किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से ग्रेजुएशन कम्पलीट किया है किसी भी सब्जेक्ट में तो आप State PCS के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

परसेंटेज कितने चाहिए?

परसेंटेज की बात करे तो परसेंटेज मायने नहीं रखता एटलीस्ट पास मार्क्स अगर आपके ग्रेजुएशन में है तो आप एलिजिबल होते हैं।

ऐज लिमिट

अगर आप एक General केटेगरी के कैंडिडेट हैं तो आपके लिए ऐज लिमिट है 21- 40 वर्ष, अगर आप एक OBC केटेगरी के कैंडिडेट हैं तो आपकी जो ऐज लिमिट है 21 – 45 वर्ष, और अगर आप आप एक SC / ST केटेगरी के कैंडिडेट हैं तो आपकी जो ऐज लिमिट है 21 – 45 वर्ष।

सिलेक्शन प्रोसेस

सिलेक्शन प्रोसेस की बात करे तो सिलेक्शन प्रोसेस बिलकुल सेम होता है UPSC Civil Service Examination में भी और State PSC PCS में भी। यानि कि अगर आप UPSC Civil Service Examination के लिए अप्लाई करते हैं तो उसका भी सिलेक्शन प्रोसेस बिलकुल एक जैसा होता है और State PSC PCS में भी सेम होता है। सबसे पहले आपको Preliminary Exam यानि प्रारंभिक परीक्षा देने होते हैं, इसे क्लियर करने के बाद आपको Main Exam यानि मेंस को क्लियर करना होता है, और अगर आप इसे भी अच्छे तरीके से क्लियर कर लेते हैं तब आपको Interview यानि साक्षात्कार लिए बुलाया जाता है। यह तीनों ही स्टेज अगर आप अच्छी तरह क्लियर कर लेते हैं, सारी चीजें स्टेप बाय स्टेप कर लेते हैं तब आपको फाइनली सिलेक्शन मिल जाता है आप सेलेक्ट हो जाते हैं उसके बाद आपकी ट्रेनिंग होती है और फिर आपकी पोस्टिंग होती है।

उम्मीद करते हैं आपको सारी चीजें समझमे आ गयी होगी। तो यहां मैंने आपको बताया है कि आप दो तरीकों से SDM बन सकते हैं वह आपके ऊपर डिपेंट करता है कि आप किस तरह से बनना चाहते हैं।

तो आपको यह पोस्ट  “SDM Full Form | SDM कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में” कैसी लगी, निचे कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को भी शेयर करें।

यह भी पढ़े: –

सीडीएस का फुल फॉर्म क्या है?
ISP क्या है और कैसे काम करता है?
IPO क्या है और इससे पैसे कैसे कमाए?
GST क्या है? GST के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में
GDP क्या है? और इसे क्यों और कैसे कैलकुलेट करते हैं?

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.