Net Banking Kya Hai Hindi – What is Internet Banking | Benefit of Internet Banking in India

Net Banking Kya Hai Hindi, आज मैं इस लेख में बात करने वाली हूँ Net Banking के बारे में। आप में से बहुत लोगों को पता होगा Net Banking के बारे में तो जिन लोगों को नहीं पता उन्हें भी आज पता चल जाएगा।

Net Banking क्या होती है? What is Internet Banking? 

Net Banking के जरिए आप कहीं से भी किसी भी टाइम अपने बैंक बैलेंस की पूरी जानकारी ले सकते हैं। Net Banking के जरिए हम ऑनलाइन शॉपिंग भी कर सकते हैं और अपना मोबाइल रिचार्ज भी कर सकते हैं। इस सर्विस का यूज़ करने के लिए आपके पास किसी भी बैंक में अकाउंट होना चाहिए और फिर आप अपने बैंक में जाकर नेट बैंकिंग का फॉर्म फील अप कर दे और उसके बाद आपको बैंक की तरफ से अगले दिन आपको Net Banking का यूजर नेम और पासवर्ड दे दिया जायेगा और फिर आप नेट बैंकिंग का उसे कर सकते हैं।

Net Banking एक ऐसा ऑनलाइन सिस्टम है जिसके जरिए हम अपने बैंक अकाउंट का बैलेंस ऑनलाइन  चेक कर सकते हैं। आप अपने बैंक बैलेंस की 10 ट्रांज़ैक्शन भी चेक कर सकते हैं। जिसके जरिए आपको यह पता चल जाएगा कि आपके अकाउंट में 10 बार क्या क्या ट्रांज़ैक्शन हुआ है। Net Banking एक सिक्योर सर्विस है। यह HTTPS से लेस है और इसे कोई हैक नहीं कर सकता। आपका अकॉउंट बैलेंस बिलकुल सेफ रहेगा।

अगर आपके पास Net Banking की सर्विस है तो आप अपने नेट बैंकिंग के जरिए ऑनलाइन अकाउंट क्रिएट कर सकते हैं। और तो और ऑनलाइन नेट बैंकिंग के जरिए अगर आप RD अकाउंट क्रिएट करते हैं तो आपको बैंक में हर महीने जाने की जरुरत नहीं पड़ेगी क्यों की नेट बैंकिंग ऑटो कट पेमेंट का ऑप्शन देती है जिसके जरिए हर महीने आपके अकाउंट  में से बैलेंस कट करके आपके RD अकाउंट में जुड़ जाएगा।

नेट बैंकिंग के फायदे Benefits of Internet Banking 

Payment Transfer

अगर आपके पास नेट बैंकिंग है तो फिर आपको कहीं पर भी जाने की जरुरत नहीं पड़ेगी क्यों कि नेट बैंकिंग अपने कस्टमर्स के लिए ऑनलाइन पेमेंट्स ट्रांसफर करने का ऑप्शन रखती है जिसकी मदद से हम अपने फॅमिली या फ्रेंड्स को पैसे ट्रांसफर भी कर सकते हैं वो भी घर बैठे बड़ी आसानी से।

Online Pay by Net Banking 

नेट बैंकिंग का यूज़ आप सरकारी फॉर्म में भी यूज़ कर सकते हैं क्यों कि कई बार ऐसा होता है कि आप कोई ऑनलाइन फॉर्म अप्लाई करते हैं और फॉर्म अप्लाई करने के बाद जब ऑनलाइन पे वाला पेज आता है तो आपको उस फॉर्म की फी सबमिट करने के लिए 2 ऑप्शन जरूर आता है। ऑप्शन 1 – नेट बैंकिंग और ऑप्शन 2 – चालान। और ऐसे में आपके पास नेट बैंकिंग नहीं है तो आपको अपने फॉर्म के फीस का चालान बैंक में जाकर चालान की फीस सबमिट करवानी पड़ती है। अगर ऐसे में आपके पास Net Banking का सर्विस है तो आप इस फॉर्म की फीस ऑनलाइन उसी टाइम ही करवा सकते हैं।

ATM Pin Service 

अगर आपका ATM कार्ड खो जाता है तो आप बैंक में जाकर अपने ATM कार्ड को ब्लॉक करवाते हैं लेकिन नेट बैंकिंग के जरिए आप उसे घर में बैठे ब्लॉक करवा सकते हैं। और अगर आप अपने ATM का पिन नंबर भूल जाते हो तो आपको बैंक जाना पड़ता है और वहां जाकर फॉर्म भरना पड़ता है। फिर 10 – 15 दिन बाद आपको न्यू पिन मिलता है जबकि Net Banking में आप 1 मिनट में अपना पिन जेनरेट कर सकते हैं।

उम्मीद करते हैं आपको यह जानकारी पसंद आयी होगी। अगर आपको हमारा यह लेख “Net Banking Kya Hai Hindi” अच्छा लगा हो तो इसे आप  दोस्तों और फॅमिली मेंबर के साथ भी शेयर कर सकते हैं।

यह भी पढ़े: –

Leave a Reply

Your email address will not be published.