Civil Engineer Kaise Bane | Civil Engineer Salary, Course, Fees, Jobs and Career

Civil Engineer Kaise Bane: हेलो दोस्तों, भारत एक विकसनशील देश है लगातार प्रगति के पद पर आगे बढ़ रहा है। देश के न सिर्फ बड़े शहरों में बल्कि छोटे शहरों से लेकर गाँव में भी डेवेलोपमिंग काफी तेजी से बढ़ गई है। और दोस्तों छोटी शहरों में भी बड़ी बड़ी इमारतें, बिल्डिंग, अच्छी सड़कें, हाईवे, डैम इत्यादि का विकाश काफी तेजी से बढ़ रहा है। इसका मुख्य कारण है कि इंडिया में जो रियल स्टेट बिज़नेस है वह काफी तेजी से ग्रोथ कर रहा है। इसकी बजह से सिविल इंजीनियरिंग की डिमांड काफी तेजी से बढ़ रही है। अगर आप भी फ्यूचर में एक सिविल इंजीनियरिंग बनना चाहते हैं तो दोस्तों आज के इस लेख में मैं आप सबको डिटेल में बताने वाली हूँ कि सिविल इंजीनियरिंग का काम क्या होता है? सिविल इंजीनियरिंग बनने के लिए क्या एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया है? सिविल इंजीनियरिंग बनने के लिए कौन कौन से कोर्सेज मार्किट में अवेलेबल है? इन कोर्सेज को करने में कितने पैसों की जरुरत होगी? कोर्सेज कम्पलीट करने के बाद आप कहाँ कहाँ पर जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं? और जॉब मिल जाने के बाद आपको प्रति महीना कितनी सैलरी मिलेगी? इन सभी चीजों के बारे में आज मैं आपको विस्तार से बताने वाली हूँ।

 

Civil Engineer Kaise Bane Full Information in Hindi: 

 

Civil Engineer क्या होता है और Civil Engineer का काम क्या होता है? 

आसान भाषा में कहे तो सिविल इंजीनियरिंग एक तरह का प्रोफेशनल इंजीनियरिंग कोर्स होता है जिसकी पढ़ी पूरी करने के बाद आप एक सिविल इंजीनियर बन जाते हैं। सिविल इंजीनियर का काम डिजाइनिंग, कंस्ट्रक्शन, रोड बनाना, बिल्डिंग्स बनाना, घर बनाना, डैम्स बनाना और कंस्ट्रक्शन से रिलेटेड होता है। मतलब जो भी प्रोजेक्ट आपके हाथ में आने वाला है उस प्रोजेक्ट का डिज़ाइन कैसा होगा, वो रोड कैसे बनेगा, उसमे क्या क्या सामान लगेगा यह सारे काम एक सिविल इंजीनियर की होती है जो एक बहुत ही बड़ा और जिम्मेदारी वाला काम होता है।

Civil Engineer बनने के लिए Eligibility Criteria 

एक जूनियर सिविल इंजीनियर बनने के लिए आपको मिनिमम 10th पास होना होगा और अगर दोस्तों आपको एक सीनियर और प्रोफेशनल सिविल इंजीनियर बनना है तो उसके लिए आपको पनि 12 वीं साइंस की स्ट्रीम से पास करनी होगी और साइंस की स्ट्रीम में आपके पास Physics, Chemistry और Mathematics यह तीन सब्जेक्ट होना कम्पलसरी है तभी आप फ्यूचर में सिविल इंजीनियर के लिए ऐडमिशन ले सकते हैं। और अगर आपके स्टडीज में PCB यानि Physics, Chemistry और Biology सब्जेक्ट है Mathematics सब्जेक्ट नहीं है तो आप फ्यूचर में सिविल इंजीनियर नहीं बन सकते। और सिविल इंजीनियर बनने के लिए जैसे ही आपने अपनी 12 वीं पास की , उसके बाद आपको JEE Entrance Exam देना कम्पलसरी है। हालॉकि कई कॉलेजेस ऐसे हैं जो विथाउट JEE Entrance Exam के आपको ऐडमिशन दे देंगे लेकिन जो भी अच्छे कॉलेजेस है बड़े कॉलेजेस हैं, उनमें आपको तभी ऐडमिशन मिलेगा जब आप JEE Entrance Exam देंगे।

Civil Engineer बनने के लिए क्या एजुकेशन लेना पड़ेगा? 

एक सिविल इंजीनियर बनने के लिए आपके सामने 2  तरीके है। एक तो आप 10th के बाद डायरेक्ट Diploma in Civil Engineer का कोर्स कर लो जिससे कि आप एक जूनियर सिविल इंजीनियर बन पाओगे और दूसरा रास्ता यह है कि आप अपनी Degree in Civil Engineering का कोर्स कम्पलीट करो और फ्यूचर में एक प्रोफेशनल और सीनियर सिविल इंजीनियर बने।

मैं आपको रेकमेंड करूँगा कि आप अपनी 12th पास करे और उसके बाद ही सिविल इंजीनियर बने। Diploma in Civil Engineer का कोर्स कम्पलीट कर लेने के बाद आपको बहुत ही कम रूपीस की सैलरी मिलेगी जिसकी बजह से आप जिंदगी में कुछ भी नहीं कर पाओगे और आपको पूरी जिंदगी कम सैलरी में ही काम करना पड़ेगा।

यह जो डिप्लोमा का कोर्स होता है यह ओनली 3 इयर्स का होता है। 3 इयर्स के अंदर टोटल 6 सेमेस्टर आपको देने होते हैं। और अगर हम इस कोर्स की फीस की बात करे तो यह फीस डिपेंट करती है कॉलेज टू कॉलेज। और नार्मल कॉलेजेस के अंदर Diploma in Civil Engineer Course की फीस देखेंगे तो वो लगभग 70,000 से लेकर 1,50,000 रूपीस तक की होती है। और बड़े कॉलेजेस के अंदर इस कोर्स के लिए आपको ज्यादा फीस देनी पड़ेगी जो मैक्सिमम 3 लाख रुपये तक हो सकती है। Diploma in Civil Engineer Course कम्पलीट कर लेने के बाद आप Assistant Civil Engineer, Junior Constructions Manager, Assistant Inventory Manager, Constructions Project Assistant, Junior Plant Manager, Professor, Consultant आदि जैसे जॉब हासिल कर सकते हैं।

अभी हम लोग सिविल इंजीनियर बनने के उस तरीके के बारे  जिस तरीके से आप हर महीने के 40 हजार रुपये से लेकर 1.5 लाख रुपये तक की सैलरी कमा सकते हैं। पहले तो आपको अपनी 10th पास करनी है, उसके बाद आपको साइंस की स्ट्रीम में एडमिशन लेना है। साइंस की स्ट्रीम ने एडमिशन लेते समय आप इस बात का जरूर ध्यान रखे की आपके सिलेबस में Mathematics सब्जेक्ट होना इम्पोर्टेन्ट है। Mathematics सब्जेक्ट को इंक्लूड कर लेने के बाद आपको अपनी 12 वीं पास करनी है और आपको अपनी 12 वीं मिनिमम 50% से पास करनी है। अगर आपके मार्क्स 50% से कम होंगे तो बहुत ही कम कॉलेजेस आपको एडमिशन देने में राजी होंगे। 12 वीं पास कर लेने के बाद IIT, JEE की एंट्रेंस एग्जाम देनी है। इस एंट्रेंस एग्जाम में अगर आपको माइनस मार्क्स भी मिले तो भी उससे कुछ फर्क नहीं पड़ता। कई सारे कॉलेजेस के अंदर आपको एडमिशन इस बेसेस पर ही मिल जाता है IIT, JEE के एंट्रेंस एग्जाम देने का हौसला रखा। तो यह इम्पोर्टेन्ट है कि आपको JEE के एंट्रेंस एग्जाम देने हैं। अगर आपको JEE के एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे मर्क्स आते हैं तो आपको फ्यूचर में बहुत बड़े बड़े कॉलेजेस में एडमिशन मिलने के चांस हो सकते हैं जिसके जरिए आप अपनी इंजीनियरिंग की स्टडीज कम्पलीट कर सकते हैं। अगर आपको बड़े कॉलेजेस के अंदर एडमिशन मिलते हैं तो आपको बड़ी बड़ी कंपनीज से बड़े बड़े पैकेज की सैलरी ऑफर होगी। IIT, JEE के एंट्रेंस एग्जाम देने के बाद आपका जो नाम है वह किसी भी एक कॉलेज के अंदर लग जाता है। फिर आपको अपनी मेरिट लिस्ट चेक करनी है और आपका नाम कौन से कॉलेज के अंदर लगा है वह चेक करना है फिर उसके हिसाब से आपको उस कॉलेज को विजिट करना है और एडमिशन लेते समय आपको जो कोर्स सेलेक्ट करना है वह कौसे बताना है।

सिविल इंजीनियर बनने के लिए आज मार्किट में कई सारे कोर्सेज अवेलेबल है जैसे कि – 

  • B.Tech In Civil Engineering
  • B.e In Civil Engineering
  • M.tech In Civil Engineering
  • Diploma In Civil Engineering

इन में से कोई भी एक कोर्स कम्पलीट कर लेने के बाद आप एक Civil Engineer बन जाएंगे। B.Tech In Civil Engineering और B.e In Civil Engineering बहुत ही ज्यादा पॉपुलर कोर्सो में से एक है, जो बहुत सारे स्टूंडेंट्स करते हैं जिनको भी एक Civil Engineer बनना है। यह कोर्सेज की डिउरेशन 4 साल की होती है।

सिविल इंजीनियरिंग की फीस 

अगर हम इन कोर्सेज की फीस की बात करे तो B.Tech In Civil Engineering और B.e In Civil Engineering के कोर्स के लिए 70 हजार रुपये से लेकर 1 लाख रूपय तक की फीस चार्ज करते हैं। यह प्रति महीना की फीस है। और IIT जैसे कॉलेजेस के अंदर फीस भी बढ़ती है। इस कोर्स की डिउरेशन 4 साल की होती है तो उसके अनुसार एक सिविल इंजीनियर बनने के लिए आपको लगभग 3.5 लाख रुपये से लेकर 6 लाख रुपये तक की फीस देनी पड़ती है।

Civil Engineer बन जाने के बाद आप किन किन जगहों में जॉब पा सकते हैं? 

जैसा कि आपने जाना कि सिविल इंजीनियर में काफी अच्छा करियर स्कोप है। और इसमें प्राइवेट के साथ साथ अच्छी सरकारी नौकरी बह मिल सकती है। कंस्ट्रकशन्स और रियल स्टेट से जुडी फ़ील्ड्स में जॉब्स की बिलकुल भी कमी नहीं होती। तो सिविल इंजीनियरिंग के पोस्ट पर आपको जॉब्स भर भर कर मिलेंगे। यहाँ पर आपको जॉब्स की बिलकुल भी कमी नहीं होगी। अगर आप एक सीनियर सिविल इंजीनियर बन जाते हैं तो आपको Civil Engineer, Architect, Technical Officer Project Engineer Planing Engineer, Manager, Business Analyst, Assistant Executive Engineer, Transportation Engineer, Water Resource Engineer, Structural Engineer, Environmental Engineer, Civil Engineering Technicians आदि जैसे पोस्ट पर जॉब हासिल जाएंगे।

Civil Engineer की सैलरी 

अगर आप एक सक्सेसफुल सीनियर सिविल इंजीनियर बन जाते हैं तो आपको प्रति महीना 35 हजार रुपये की सैलरी एज ए फ्रेशर दी जाती है। जैसे जैसे आपका एक्सपीरियंस बढ़ता है वैसे वैसे सैलरी आपको मिलती जाती है। और आपकी जो सैलरी है वह इस बात पर भी डिपेंट करती है कि आप किस ऑर्गनाइज़ेशन के लिए , किस कंपनी के लिए काम कर रहे हैं। और आप मैक्सिमम 1.5 लाख रुपये तक की सैलरी पा सकते हैं।

तो दोस्तों आपको यह जानकारी “Civil Engineer Kaise Bane | Civil Engineer Salary, Course, Fees, Jobs and Career” कैसी लगी कमेंट के जरिए जरूर बताएं और अगर आपको यह जानकारी (Civil Engineer Kaise Bane) पसंद आती है तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करे।

यह भी पढ़े: –

बीसीए (BCA) क्या है और कैसे करे?
NEET क्या है और कैसे तैयारी करें?
बी.एच.एम.एस (BHMS) क्या है और कैसे करे?

Leave a Reply

Your email address will not be published.