CDS Full Form in Army and UPSC Exam | सीडीएस का फुल फॉर्म क्या है?

CDS Full Form in Army and UPSC Exam: दोस्तों, इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं CDS एग्जाम से जुडी पूरी जानकारी ताकि आप भी इस एग्जाम के लिए अच्छे से तैयार हो सके तो चलिए शुरू करते हैं।

CDS Exam क्या है?

CDS का फुल फॉर्म Combined Defense Service है यानि कि सम्मिलित रक्षा सेवा और इस एग्जाम को क्लियर कर लेने के बाद कैंडिडेट को इंडियन मिलिट्री, एयर फोर्स और नेवी में जॉब मिल जाती है। CDS एग्जाम को क्लियर करके आप इन सर्विसेज में ऑफिसर की पोस्ट पा सकते हैं। यह एग्जाम UPSC यानि Union Public Service Commission द्वारा आयोजित करवाया जाता है और यह परीक्षा साल में दो बार होता है। हर साल इस एग्जाम में 4 लाख से भी ज्यादा कैंडिडेट्स हिस्सा लेते हैं और इनमे से बहुत कम कैंडिडेट्स सेलेक्ट होते हैं। इस एग्जाम में रिटर्न टेस्ट और इंटरव्यू की बेस पर सिलेक्शन होता है।

CDS Exam Eligibility Criteria 2022

Nationality Criteria

CDS एग्जाम के लिए अप्लाई करने वाले कैंडिडेट्स भारत, नेपाल या भूटान के होने चाहिए।

Age Limit 

CDS एग्जाम के लिए अप्लाई करने से पहले आपको ऐज लिमिट की कंडीशंस पर भी गौर करना होगा जो कि इस तरह से है –

  • इंडियन मिलिट्री अकेडमी के लिए – 19 साल से 24 साल तक
  • इंडियन एयरफोर्स अकेडमी के  लिए – 19 साल से 24 साल तक
  • इंडियन नेवल अकेडमी के  लिए – 19 से 24 साल तक
  • ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकेडमी के लिए – 19 से 25 साल तक

Educational Qualification 

Educational Qualification की बात करे तो CDS एग्जाम के लिए अप्लाई करने वाले कैंडिडेट की एजुकेशनल क्वालिफिकेशन ये होनी चाहिए –

  • इंडियन मिलिट्री अकेडमी के लिए – कैंडिडेट का किसी रीकग्नाइज़्ड यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट होना जरुरी है।
  • इंडियन नेवल अकेडमी के  लिए – कैंडिडेट के पास इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री होना जरुरी है।
  • एयरफोर्स अकेडमी के लिए – कैंडिडेट के पास ग्रेजुएशन की डिग्री होनी जरुरी है, साथ ही में 12th क्लास में मैथ्स और फिजिक्स सब्जेक्ट होना भी कम्पलसरी है।
  • ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकेडमी के लिए – कैंडिडेट का किसी रीकग्नाइज़्ड यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट होना जरुरी है।

Marital Status 

मैरिटल स्टेटस की बात करे तो

इंडियन मिलिट्री अकेडमी के लिए – अनमैरिड

इंडियन नेवल अकेडमी के  लिए – अनमैरिड

एयरफोर्स अकेडमी के लिए – मैरिड और अनमैरिड

ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकेडमी के लिए – फॉर मैन – मैरिड और अनमैरिड, फॉर वुमन – अनमैरिड और इसुलेस डिवोर्सी और इसुलेस विडो

CDS एग्जाम को क्लियर करने के लिए आपको कौन से स्टेजेस क्लियर करने होंगे? 

  • रिटन टेस्ट को क्वालीफाई करना
  • इंटरव्यू में अपीयर होना

इन दोनों स्टेप्स को क्लियर करने के बाद आप इन जगहों में से किसी एक के लिए सेलेक्ट होंगे –

  • Indian Military Academy, Dehradun
  • Naval Academy, Goa
  • Air Force Academy, Begumpet
  • Officers Training Academy, Chennai

तो आइए अब रिटन टेस्ट की थोड़ी और जानकारी लेते हैं। यह टेस्ट ऑब्जेक्टिव टाइप टेस्ट होता है जिसमे मैथ्स, इंग्लिश और जनरल नॉलेज की क्वेश्चन आते हैं। यह टेस्ट 3 स्टेप्स में होता है। 1st पेपर इंग्लिश का, 2nd पेपर जनरल नॉलेज का और 3rd पेपर एलेमेंटरी मैथमेटिक्स का होता है। हर पेपर के लिए डिउरेशन 2 घंटे का होता है  और हर पेपर के लिए 100 मार्क्स होते हैं।

रिटन टेस्ट क्लियर होने के बाद इंटेलिजेंस टेस्ट और पर्सनालिटी टेस्ट लिया जाता है। इस टेस्ट में नेगेटिव मार्किंग भी होती है इसलिए बहुत ध्यान से इसे आपको क्लियर करना होता है।

Physical Eligibility 

CDS एग्जाम क्रैक करने के लिए कैंडिडेट का फिजिकली और मेंटली फिट होना बहुत जरुरी है। इसमें Eyes, Height और Weight रिलेटेड कंडीशंस फुलफिल होनी चाहिए। कैंडिडेट की फिजिकल एलिजिबिलिटी से जुडी बहुत सारी कंडीशंस होती है, जिन्हें क्लियर करने वाले कैंडिडेट को ही सेलेक्ट किया जाता है। इसलिए CDS एग्जाम के लिए अप्लाई करने से पहले इससे जुड़ी हर एक कंडिशस और क्राइटेरिया को अच्छे से समझ लें ताकि आपको किसी तरह की कोई भी परेशानी का सामना न करना पड़े।

CDS एग्जाम क्रैक करने के लिए तैयारी कैसी करनी चाहिए?

अगर आप CDS का रिटन एग्जाम क्रैक करना चाहते हैं तो इन टिप्स को फॉलो कीजिए –

  • क्विक प्रॉब्लम को सॉल्व करने की प्रैक्टिस करे क्योंकि हर आंसर के लिए आपको लगभग 1 मिनट का समय मिलता है इसलिए मैथमेटिक्स से रिलेटेड क्वेश्चन सॉल्व करने के लिए शॉर्टकट ट्रिक्स याद रखें।
  • क्विक होने के साथ साथ आपका ऐक्युरेट होना भी जरुरी है इसलिए स्पीड के साथ एक्यूरेसी का भी ध्यान रखे।
  •  लास्ट ईयर की क्वेश्चन पेपर जरूर सॉल्व करें।
  • मॉक टेस्ट से प्रैक्टिस को बेटर बनाएं ताकि आप पूरी तरह एग्जाम जैसा माहौल और चैलेंज पा सके और बेस्ट परफॉरमेंस के लिए रेडी हो सके।
  • जनरल नॉलेज वाले पेपर को क्रैक करने के लिए केवल मार्किट में मिलने वाली गाइड पर ही डिपेंडेंट न रहे बल्कि NCERT बुक्स की हेल्प जरूर लें।
  • देश दुनिया की लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहे।
  • हर सब्जेक्ट का एक टॉपिक क्लियर होते ही रिवीजन जरूर करें।
  • ऑप्टिमिस्टिक बने रहे और डेडिकेशन के साथ हार्डवर्क और स्मार्ट परफॉरमेंस देते रहे।

 

तो दोस्तों CDS के बारे में यह जानकारी “CDS Full Form in Army and UPSC Exam” आपको कैसी लगी हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे जो CDS एग्जाम देने की तैयारी कर रहे हैं।

 

यह भी पढ़े: –

Google का फुल फॉर्म क्या है? 
ISP का फुल फॉर्म क्या है? 
IPO का फुल फॉर्म क्या है? 
GST का फुल फॉर्म क्या है? 
IBPS का फुल फॉर्म क्या है? 

Leave a Reply

Your email address will not be published.