The Thirsty Crow Story in Hindi – प्यासा कौवा की कहानी

प्यासा कौवा की कहानी (The Thirsty Crow Story in Hindi), आपने और हम सभी ने बचपन में प्यासे कौए की कहानी तो  जरूर सुनी अगर नहीं सुना है तो कोई बात नहीं आज हम आपको उसी प्यासे कौए की कहानी सुनाने जा रहे हैं तो इस कहानी मनोरंजन के साथ जरूर पढ़े।

प्यासा कौवा की कहानी – The Thirsty Crow Story in Hindi

एक बार एक जंगल में एक कौवा रहता था। एक दिन वह कौवा यात्रा कर रहा था। उसे बहुत प्यास लगी तो वह एक स्थान पर रुक गया। और आसपास पानी की तलाश करने लगा। मगर उसे पानी नहीं मिला। प्यास के कारन वह बहुत कमजोर हो गया था। पर उसने हिम्मत नहीं हारी। और जंगल के आसपास पानी ढूंढने लगा।

उड़ते हुए उसे एक घर दिखा, यह सोचते हुए कि उसे वहां पानी मिल सकता है। वह उस घर की ओर गया और घर के ऊपर बैठ गया। उसने घर के अंदर एक घड़ा देखा। जल्दी से वह उस घड़े के पास उड़कर गया। उसने देखा कि उसमें बहुत ही थोड़ा पानी है।

पानी को देखते ही उसे बहुत ख़ुशी हुई। मगर क्यों कि पानी बहुत निचे था, उसका मुँह पानी तक पहुंच नहीं पा रहा था। उसने थोड़ा सोचा। फिर उसे एक उपाय सुझा, “अगर मैं इसमें कुछ कंकर डाल दूँ तो पानी शायद ऊपर आ जायेगा। और फिर मैं पानी पी सकता हूँ।”

जल्द ही वह कुछ कंकर के तलाश में लग गया। उसे कुछ कंकर मिल गए। उनके पास जाकर उसने एक एक करके कंकर उठाने शुरू किये। फिर घड़े के पास जाकर उसमे डालने लगा। पानी थोड़ा ऊपर आया पर अभी भी वह पहुंच नहीं पा रहा था। उसने फिर भी हार नहीं मानी और एक एक करके कंकर उठाकर डालने लगा।

काफी समय के बाद पानी और ऊपर आया। कौवा बहुत खुश हुआ और भरके अपनी प्यास बुझाई। उसने अपने और दोस्तों को भी बुलाया। बहुत से पंछी पानी पिने आए। उन्होंने कौए को शुक्रिया कहा और फिर वहां से उड़ गए।

प्यासा कौवा की कहानी (The Thirsty Crow Story in Hindi) आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अच्छा लगा हो तो उसे शेयर भी जरूर करें।

यह भी पढ़े –

Leave a Reply

Your email address will not be published.