PR Full Form: पीआर (PR) का फुल फॉर्म क्या है?

PR Full Form:  आपने कई बार सुना होगा कि लोग PR के लिए अप्लाई करते हैं Canada PR हो गया, Australia PR हो गया, और कई लोगों के मन में तो यह सवाल रहता है कि यह PR क्या होताहै ?  तो इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं PR क्या होता है? ये आप कैसे ले सकते हैं? इसके फायदे क्या है? और इसका पूरा नाम यानि फुल फॉर्म क्या है? तो चलिए शुरू करते हैं।

पीआर का फुल फॉर्म – PR Full Form in Hindi

PR का पूरा नाम यानि फुल फॉर्म Permanent Residency होता है।

पीआर क्या है? – What is PR?

PR का मतलब होता है Permanent Residency, यानि कि जब आप एक कंट्री से दूसरे कंट्री में माइग्रेट करते हैं परमानेंटली शिफ्ट होने के लिए तो आपको वहां पर रेसीडेंसी स्टेटस मिलता है जिसको बोलते हैं Permanent Residence यानि PR. तो जब भी आप एक कंट्री से दूसरे में जाना चाहते हैं तो आपको एक तरह की परमानेंट चाहिए जिसको हम VISA बोलते हैं। कई अलग अलग तरह के VISA होते हैं जैसे कि Tourist Visa, Business Visa, और Work Permit . पर इन सब Visa के कुछ लिमिटेशन है इन सब Visa  की डिउरेशन फिक्स होता है कि जितना डिउरेशन उसमे लिखा है उतना ही टाइम आप उस कंट्री में रह सकते हैं। और जैसे ही वह डिउरेशन ख़त्म होता है आपको अपने देश में वापस आ जाना पड़ता है। तो PR जो है वह  दूसरे सभी Visa से अलग है। PR में आपको Permanent Residency Status मिलता है यानि कि आप वहां पर अनलिमिटेड टाइम रह सकते हैं, लाइफटाइम भी रह सकते हैं। कुछ कन्ट्रीज में रूल होते हैं कि आपको PR को रेनू कराना पड़ता है और रेनू कराने के बाद आप वहां पर रह सकते हैं आपको वापस अपने देश आने की जरुरत नहीं है नार्मल Visa की तरह। आप जब भी किसी कंट्री का PR लेते हैं तो आपकी सिटीजनशिप और आपका पासपोर्ट आपके अपने होम कंट्री यानि इंडिया का रहता है तो जब चाहे आप इंडिया भी आ सकते हैं और जब चाहे उस कंट्री में वापस जा सकते हैं बिना किसी वीजा रेक्विरेमेंट के। दूसरा, जब भी आपको किसी कंट्री का PR यानि Permanent Residency स्टेटस मिल जाता है तो आपको उस कंट्री के कई सारे बेनिफिट्स मिलते हैं। हालाँकि यह बेनिफिट्स प्रेफर करते हैं फ्रॉम कंट्री टू कंट्री पर ज्यादातर उसके गवर्नमेंट के जो बेनिफिट्स हैं जो उनके सिटीजन्स को मिलते हैं उनमे से कई सारे बेनिफिट्स जैसे PR आपको मिल जाएंगे। कुछ बेनिफिट्स हैं जो आपको नहीं मिलेगी जैसे की आप वहां पर वोट नहीं कर सकते, आप किसी गवर्नमेंट जॉब के लिए अप्लाई नहीं कर सकते, आप वहां की मिलेटरी या डिफेन्स फोर्स में जॉब नहीं कर सकते। इसके अलावा बाकि जो भी बेनिफिट्स हैं किसी भी तरह की जॉब हो वह आप आसानी से कर सकते हैं।

अगर हम आगे बात करें तो हर एक कंट्री के अलग अलग रूल होते हैं Citizenship के लिए। PR जो है वो Citizenship के एक स्टेप का निचे का लेवल है। पर आप कुछ साल तक कन्टिन्यूसली PR के ऊपर किसी भी कंट्री में रहते हैं तो उसके बाद आप एलिजिबल हो जाते हैं Citizenship अप्लाई करने के लिए। हालाँकि PR to Citizenship का रूल हर एक कंट्री में अलग अलग है यानि कुछ कंट्री में आपको 2 साल रहना पड़ता है, कुछ में 4 साल, कुछ में 5 साल और कुछ कन्ट्रीज में उससे भी ज्यादा। तो वह आप कोनसे कंट्री में जाते हैं उसके ऊपर डिपेंट करता है। पर कुछ साल के  बाद आप PR to Citizenship के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं। और जब आप Citizenship के लिए अप्लाई करते हैं और एक बार वहां के परमानेंट सिटीजन हो जाते हैं तो आपको वहां का पासपोर्ट मिल जाता है और उसके बाद उस कंट्री के जितने भी बेनिफिट्स हैं वह सब भी आपको मिलने लग जाएंगे। जैसे ही आपको दूसरे कंट्री का Citizenship मिलता है तो आपको इंडिया का Citizenship सरेंडर करना पड़ता है क्यों की इंडिया में Dual Citizenship अल्लोव नहीं है। हालाँकि दूसरे कंट्री का Citizenship लेने के बाद भी आपको इंडिया आने के लिए वीजा की जरुरत नहीं पड़ेगी तो आप जब किसी और कंट्री का Citizenship ले लेते हैं और आप OCI के लिए अप्लाई करते हैं तो आपके पासपोर्ट के ऊपर एक स्टीकर रल स्टैम्प लगता है जिसे OCI Overseas Citizen of India बोलते हैं। तो जब एक बार आपके पासपोर्ट पर OCI का स्टैम्प मिल जाता है चाहे आप किसी भी कंट्री का Citizenship ले लें, इंडिया आने के लिए किसी भी वीजा की जरुरत नहीं पड़ेगी और इंडिया से वापस उस कंट्री में जाने के लिए भी वीजा की जरुरत नहीं पड़ेगी।

तो जैसा कि आपने जाना  PR का मतलब होता है Permanent Residence, यानि कि आप जब भी आप किसी एक कंट्री से दूसरे कंट्री में परमानेंटली मूव करना चाहते हैं तो PR के लिए अप्लाई करना होता है। हालाँकि आप Job Visa में भी दूसरे कन्ट्रीज में जा सकते हैं पर उसमे कुछ लिमिटेशन हैं जैसे कि आप वहां पर सिर्फ जॉब कर सकते हैं जिस जॉब के लिए आप गए हैं और आप कुछ नहीं कर सकते वहां पर। आपको उस कन्ट्रीज के कुछ बेनिफिट्स भी नहीं मिलते, कुछ कुछ कन्ट्रीज में आप अपने फैमिलीज़ को भी नहीं ले जा सकते और अगर फॅमिली को ले सकते हैं तो आपके अलावा आपके फॅमिली में कोई और काम नहीं कर सकता। पर PR के  किसी भी कंट्री में जाते हैं तो आपके यह सारे रेस्ट्रिक्शन हट जाते हैं यानि कि अपने फॅमिली के साथ वहां पर जा सकते हैं, आप और आपके फॅमिली के सभी मेंबर्स वहां पर जॉब कर सकते हैं, आपके बच्चे वहां पर पड़ सकते हैं, आप कितनी भी बार वहां से अपने कंट्री में आ सकते हैं और गवर्नमेंट के कई सारे बेनिफिट्स भी आपको मिल जाते हैं। PR के रूल सभी कन्ट्रीज में अलग अलग होते हैं तो अगर आप PR के ऊपर किसी भी कंट्री में माइग्रेटे होना चाहते हैं तो आपको पहले यह डिसाइड करना है कि आप कौन से कंट्री में जाना चाहते हैं और फिर आपको यह देखना है की उस कंट्री के PR रूल्स एंड रेगुलेशन के हिसाब से आप एलिजिबल होते हैं या नहीं।

तो इस पोस्ट में आपने जाना PR Full Form के बारे में और PR क्या होता इसके बारे में। तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों को शेयर करें और  हमारे ब्लॉग को भी जरूर से सब्सक्राइब कर लें।

यह भी पढ़े: –

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.