Christmas Day Real Story in Hindi

Christmas Day Real Story in Hindi: जानिए 25 दिसंबर को ही क्यों मनाया जाता है क्रिसमस

जानिए 25 दिसंबर को ही क्यों मनाया जाता है क्रिसमस  Christmas Day Real Story in Hindi

भारत एक ऐसा देश है जहाँ पर लगभग सभी धर्मों के लोग रहते है और सभी त्योहारों को भी बहुत धूमधाम से मनाते हैं। यहाँ तक कि इस देश में ईसाइयों की सबसे बड़ा त्यौहार क्रिसमस भी बहुत ख़ुशी के साथ मनाया जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि क्रिसमस क्यों मनाते है? और 25 दिसंबर को ही क्रिसमस डे मनाने के पीछे की कहानी क्या है? क्रिसमस का त्यौहार कब से मनाया जाता है? आज की इस लेख में हम आपको बताएँगे कि क्रिसमस का त्यौहार क्यों मनाया जाता है।

यह भी पढ़े – वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है

25 दिसंबर को ही क्यों मनाया जाता है क्रिसमस – Christmas Day Real Story in Hindi

क्रिसमस का त्यौहार ईसाइयों का सबसे बड़ा त्यौहार होता है और ईसाइयों के लिए क्रिसमस का बहुत महत्व भी है। इस दिन पूरी दुनिया में ईसाई धर्म के लोग बहुत ही धूमधाम से इस त्यौहार को मनाते हैं। जबकि वही कुछ लोगों का मानना है कि प्रभु जीसस का जन्म 25 दिसंबर को नहीं हुआ था लेकिन अधिकांश लोग यह मानते हैं कि प्रभु जीसस का जन्म 25 दिसंबर को हुआ था। और यही बजह है कि हम इस दिन क्रिसमस डे के रूप में मनाते हैं और उन्ही की याद में क्रिसमस डे मनाया जाता है। जबकि देखा जाए तो हर त्यौहार के पीछे कोई न कोई कहानी जरूर छुपी होती है। जैसे ही हम  दीपावली मनाते हैं तो उसके पीछे श्री राम की कहानी है। उसी तरह से क्रिसमस के त्यौहार के पीछे एक कहानी है और आपको बताते दे कि क्रिसमस की कहानी आज से करीब 2000 साल पहले की है।

बाइबिल के मुताबिक उस समय रोम का शासन हुआ करते था और लोगों पर बहुत अत्यचात भी किए जाते थे। लोगों की पीड़ा को कम करने के लिए और लोगों को रोम के शासन से मुक्ति देते के लिए प्रभु ने अपने बच्छे जीसस को धरती पर भेजा था। प्रभु ने जीसस के जन्म के लिए वहां कि एक कुँआरी कन्या मेरी को चुना और प्रभु ने मेरी के पास एक देवदूत को भेजा। देवदूत ने मेरी के पास जाकर कहा कि तुम्हें प्रभु के पुत्र जीसस को जन्म देना है और देवदूत ने आगे यह भी बताया कि आपका यह बेटा बड़ा होकर राजा बनेगा और लोगों पर हो रहे अत्याचारों से मुक्ति दिलाएगा।

यह भी पढ़े – राष्टीय शिक्षा दिवस क्यों मनाया जाता है? 

प्रभु के द्वारा भेजे गए दूत ग्रैबियल जोसेफ के पास गई और उन्होंने कहा कि आपको मेरी नाम की एक लड़की से शादी करनी है जो प्रभु के बच्चे को जन्म देगी। जिस दिन जीसस का जन्म होने वाला था उस समय मेरी और जोसेफ बेथलहेम की तरफ जा रहे थे और बेथलहेम में उस समय बहुत ज्यादा भीड़ थी और रहने के लिए कहीं भी जगह नहीं थी। तब जगह की नजाकत को देखते हुए मेरी और जोसेफ उस रात एक अस्तबल यानि कि तबेले में रात गुजारी और उसी रात जीसस का जन्म भी हुआ और जब जीसस का जन्म हो रहा था तब आकाश में एक चमकता हुआ तारा दिखाई दिया जिससे लोगों को यह आभास हो गया कि उनके प्रभु ने धरती पर अवतार ले लिया है। क्यों कि इस बात की भविष्यबाणी तो पहले से ही हो चुकी थी जिस दिन आकाश में सबसे ज्यादा चमकता हुआ तारा दिखाई दे तो समझ लेना उसी दिन धरती पर तुम्हारे प्रभु ने जन्म ले लिया है।

प्रभु के जन्म लेने से सभी लोग बहुत ज्यादा खुश हो  थे। ईसा मसीहा ने अब लोगों के बीच रहकर ही उनकी सेवा करनी शुरू कर दी और उनको दुःख दर्द को दूर करने की कोशिश में लग गए। ईसा मसीहा ने हमेशा लोगों को भाईचारे, मानवता और प्रेम से रहने का संदेश दिया। और वो हमेशा यह कहते थे कि जो तुम्हारा बुरा करता है उसकी भी तुम भलाई करो और अपने शत्रुओं से भी प्रेम करो।

यह भी पढ़े – फ्रेंडशिप डे क्यों मनाया जाता है? 

आपको बता दें कि क्रिसमस का त्यौहार कई चीजों के लिए मशहूर भी है। जैसे की क्रिसमस ट्री, गिफ्ट और सांता क्लॉस। इस दिन सांता क्लॉस बच्चों को गिफ्ट देते हैं और बच्चों के सभी इच्छाओं को भी पूरी करने की कोशिश करते हैं। यहाँ तक कि क्रिसमस के दिन लोग अपने घरों और गिर्जा घरों की साफ सफाई भी करते हैं और इस दिन की खुशी को मनाने के लिए घर, दुकान और गिर्जा घरों को लोग रंगीन कागजों और फूलों से सजाते हैं और खूबसूरत भी बनाते हैं।

इस दी क्रिसमस ट्री भी बनाया जाता है जिस पर रंगबिरंगे बॉल और खिलोने भी सजाए जाते हैं। इस दिन बच्चे ही खुश होते हैं क्यों कि उन्हें अच्छे अच्छे गिफ्ट मिलते हैं और बच्चों के लिए यह दिन खुशियाँ मनाने का होता है। और इस दिन लोग एक दूसरे को क्रिसमस की हार्दिक शुभकामनाएं भी देते हैं।

 

आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख “25 दिसंबर को ही क्यों मनाया जाता है क्रिसमस | Christmas Day Real Story in Hindi” जरूर पसंद आया होगा अगर पसंद आए तो कमेंट करके जरूर हमें बताएं और अपने दोस्तों को भी शेयर करे।

यह भी पढ़े – 

Follow Me on Social Media

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *