बेरोजगार बेटे की कहानी आपको रुला देगी | Hindi Story

बेरोजगार बेटे की कहानी आपको रुला देगी  Heart Touching Hindi Story

Berojgar Beta Hindi Story 

एक बेरोजगार बेटे की माँ उसकी जेब रोज टटोलती थी। बेटा चोरी से कभी-कभी देख लेता और सोचता काश नौकरी मिल जाती तो माँ की पैसों की प्यास बुझा पाता। पर माँ तो जेब में सल्फास की गोलियां ढढूंढती थी, कहीं बेटा तंग होकर सल्फास की गोलियां  खा ना ले। और बेटा सोचता था, बेरोजगार होना भी एक अभिशाप है। शायद दुनिया में नौकरी ना करना या ना मिल पाना भी सबसे बड़ा पाप है।

माँ की भवनाओं को वह समझ ना पाया। और एक दिन बेरोजगारी से तंग होकर सल्फास की गोलियां अपने साथ ले आया। वह सोचा, माँ रोज जेब टटोलती है पैसा नहीं पाती है और शर्म से कुछ बोलती भी नहीं है।

  • स्कूल की लव स्टोरी

शाम को बेटे ने दो ही गोलियों को होठों से लगाया तो माँ का दिल जोर से धड़क गया। माँ का दिल जल उठा। माँ दौड़ी-दौड़ी गयी बेटे के पास और बोली, “क्या हुआ बेटा क्यों उदास है तू आज? बहुत दुखी है, मुझे यह एहसास है, मेरा सब कुछ तू ही है। बेटा यह याद रखना तू मेरा अनमोल धन है। तेरा कोई मोल नहीं है इस दुनिया में, तेरे से बढ़कर मेरे लिए कुछ और नहीं है।”

फिर माँ रोती हुई बोली, “जिस दिन तुम हमसे रिश्ता तोड़ टोगे, उस दिन हम भी इस दुनिया को छोड़ देंगे।”

बेटा भी यह सुनकर रो पड़ा और बोला, “माँ आप हमें इतना प्यार करती हो तो सच बोलना आप मेरी जेब में क्या देखती थी?”

माँ और जोर-जोर से रो पड़ी और बोली, “बेरोजगारी क्या है बेटा यह मैं जानती हूँ, तेरे रघ-रघ को पहचानती हूँ, कहीं नादानी में कुछ कर ना ले, कहीं खा कर कुछ गोली अपनी जान ना दे दें, तेरे जब में मैं रोज उन गोलियों को ढूंढती थी बेटा।” यह सुन बेटा जोर से रो पड़ा।

माँ बोली, “आज तेरी जेब जब देखना भूल गयी, बेटा मेरा दिल अभी बहुत जोर से धपक रहा है, तेरे पास इसलिए मैं आई हूँ।”

जेब की तरफ जैसे ही माँ ने हाथ बढ़ाया, बेटा रोता हुआ बोला, “माँ तू जो ढूंढ रही है, यहाँ मेरी मुट्ठी में है। आज जो थोड़ा सा देर कर देती तो मुझे शायद कभी नहीं पाती। मैं भी कितना पागल था माँ जो सोचता था कि माँ जेब में पैसे देखती है पर वह ख़ुशी मैं आपको पिछले कई महीनो से दे नहीं पाया। इसलिए माँ मैंने यह कदम उठाया।”

माँ तो माँ ही होती है। याद रखना अगर वह कुछ गलत भी आपके साथ कर रही है तो उसमे भी आपकी भलाई ही होगी। आपकी माँ से ज्यादा आपकी परेशानी कोई और नहीं समझ सकता। अगर आपके जीवन में कोई भी परेशानी है तो प्लीज कोई गलत कदम उठाने से पहले अपने माँ और पिताजी को अपनी परेशानी जरूर बताना। .

उम्मीद करते हैं दोस्तों कि आपको यह कहानी “बेरोजगार बेटे की कहानी आपको रुला देगी  Heart Touching Story in Hindi” जरूर पसंद आया होगा अगर पसंद आए तो अपने दोस्तों को भी जरूर शेयर करे और आपको यह कहानी कैसी लगी कमेंट के माध्यम से जरूर बताए।

अन्य कहानियां पढ़े –

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.