राजकुमार राव की जीवनी | Rajkumar Rao Biography in Hindi

राजकुमार राव की जीवनी | Rajkumar Rao Biography in Hindi

राजकुमार राव की जीवनी – Rajkumar Rao Biography in Hindi:

दोस्तों अक्सर ऐसा कहा जाता है कि अगर बॉलीवुड में कुछ बड़ा करना हो तो इस इंडस्ट्री में आपकी अच्छी कलेक्शन जरूर होनी चाहिए लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो अपनी मेहनत और टैलेंट के दम पर इस धारणा को गलत साबित करने के ताकत रखते हैं और आज हम एक असेही शानदार एक्टर के बारे में बात करेंगे जिसने इस धारणा को तो गलत साबित किया ही साथ ही साथ अपने खुद के टैलेंट के दम पर लाखों नहीं बल्कि करोड़ो फैंस बनाए। साथ ही साथ अपने लाइफ स्टोरी से उन्होंने बहुत सारे लोगों को मोटीवेट भी किया है। जी हाँ दोस्तों हम बात कर रहे हिन् हिंदी सिनेमा जगत में चैलेंजिंग रोल्स के लिए पहचाने जाने वाले भारतीय एक्टर राजकुमार राव के बारे में जिनका जन्म वैसे तो बहुत साधरण परिवर में हुआ लेकिन उन्होंने खुद के मेहनत और लगन के दम पर इंडस्ट्री में अपना एक अलग ही नाम बना लिया है।

राजकुमार राव की जीवनी – Rajkumar Rao Life Story in Hindi 

जन्म 

इस कहानी की शुरुवात होती है 31 अगस्त 1984 से जब गुरगाँव के एक बड़े से जॉइंट फॅमिली में राजकुमर राव का जन्म हुआ। वसे तो पूरी फॅमिली को शुरू से ही फिल्में देखना बहुत पसंद था लेकिन खासकर छुट्टी के दिन में स्पेशली सभी लोग एक साथ बैठकर फिल्में देखना पसंद करते थे। और यही बजह थी कि राजकुमार को शुरू से ही फ़िल्मी दुनिया का मानो भुत चढ़ गया और अक्सर वह बचपन में ही अलग एक्टर्स की आवाज निकालने की कोशिश करते।

पढाई 

उन्होंने अपनी शुरुवाती पढाई ब्लू बेल्स मॉडल सेकेंडरी स्कूल से की और फिर क्लास 10th में आते आते पूरी तरह से डिसाइड कर लिया कि उन्हें एक्टिंग में ही अपना करियर बनाना है।

शाहरुख खान से प्रभावित 

दरहसल राजकुमार राव उस समय शाहरुख खान से बहुत प्रभावित थे क्यों कि उनका मानना था कि जब शाहरूख खान बिना किसी कलेक्शन के फ़िल्मी दुनिया पर राज कर सकते हैं तो वह क्यों नहीं। और इसी सोच के वह आगे बढ़ते रहे।

कॉलेज और एक्टिंग 

आगे चलकर राजकुमार राव ने आत्माराम सनातन धर्म कॉलेज से आर्ट की डिग्री ली और  साथ ही साथ वह अपने एक्टिंग को इम्प्रूव करने के लिए दिल्ली में क्षितिज रिपर्टरी और श्रीराम सेंटर जैसे कई अलग अलग थिएटर में भी काम करते और उस समय राजकुमार राव डेली गुरगाँव से बस पकड़कर दिल्ली जाया करते थे और फिर कॉलेज ख़त्म करने के बाद थिएटर जाने पर उन्हें वापस लौटते समय रात के 11 12 बज जाया करते। और इसी तरह से उन्होंने अपनी एक्टिंग को खुद की मेहनत और लगन के दम पर ग्रो किया। हालाँकि दिल्ली के थिएटर्स में काम करने के बाद भी उन्होंने अपनी एक्टिंग पर इम्प्रूवमेंट जारी रखा और ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद पुणे के फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया से भी उन्होंने एक्टिंग सीखी और फिर आखिरकार पुरे कॉन्फिडेंस के साथ वह सपनों के शहर मुंबई शिफ्ट हो गए।

करियर 

मुंबई आने के बाद उन्हें मुंबई में कई महीनों तक कोई भी रोल नहीं मिल सका और हर जगह उन्हें निराशा ही हाथ लगी। वह एक कास्टिंग डायरेक्टर से दूसरे तक जाते रहे लेकिन एक साल और छह महीने गुजरने के बाद भी उन्हें कोई भी काम नहीं मिल सका। हालाँकि राजकुमार ने कभी भी हार नहीं मानी और अपना काम करते रहे और फिर देर ही सही लेकिन 2010 में रण नाम की एक फिल्म में उन्हें एक बहुत ही छोटा सा न्यूज़ रीडर का रोल मिला। हालाँकि यह उनकी काबिलियत के हिसाब से तो बहुत कम था लेकिन कहीं न कहीं उनकी करियर की शुरुवात तो हो गई। और फिर इस मूवी के बाद से राजकुमार राव ने दिवाकर बैनर्जी का एक एडवर्टिसमेंट देखा जिसमे लिखा हुआ था कि उन्हें एक नए एक्टर की जरुरत है और इस एड को देखने के बाद राजकुमार तुरंत ऑडिशन देने के लिए पहुंच गए और फिर उनकी प्रतिभा को देखकर उन्हें तुरंत ही सेलेक्ट कर लिया गया। मूवी रिलीज़ होने के बाद से लोगों ने राजकुमार के एक्टिंग को खूब सराहा और अब धीरे-धीरे ही सही लेकिन राजकुमार लोगों के नजरों में आने में शुरू हो गए थे और फिर आगे चलकर उन्होंने रागिनी एमएमएस मूवी में भी अपनी शानदार एक्टिंग का छाप छोड़ा और फिर इसके बाद से उन्हें गैंग्स ऑफ़ वसैपुर 2, तलाश, काई पो चे, शाहिद, क्वीन, सिटी लाइट्स, अलीगढ, ट्रैप्ड, न्यूटन, स्त्री जैसे कई शानदार मूवीज में काम मिलता गया। और इन मूवीज में भी पनि हर चलेंजिंग रोल से उन्होंने सभी का दिल जीता और कमाल की एक्टिंग के लिए राजकुमार राव को कूल 3 फिल्मफेयर अवार्ड्स और एक नेशनल फिल्म अवार्ड की तरह ही कई सारे अवार्ड्स से सम्मानित किया जा चूका है।

उम्मीद करते हैं राजकुमार राव की यह कहानी “राजकुमार राव की जीवनी Rajkumar Rao Biography in Hindi” आपको जरूर पसंद आई होगी अगर पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे और असेही और भी मोटिवेशनल बायोग्राफी पढ़ने के लिए इस ब्लॉग  सब्सक्राइब जरूर कर ले।

यह भी पढ़े –

 

Follow Me on Social Media

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *