एक कुत्ते की दिल छूने वाली कहानी

सोता नहीं था यह कुत्ता बस मालिक को देखता रहता था सारी रात – कारण जानकर दिल टूट गया मालिक का

 

एक कुत्ते की दिल छूने वाली कहानी, आपको भी रोना आ जाएगा – 

एक व्यक्ति ने एक एनिमल शेल्टर से एक कुत्ते को अडॉप्ट किया था। इस व्यक्ति को बिलकुल भी मालूम नहीं था कि यह कुत्ता इन्हे कैसी शिक्षा देने वाला है जानवरों के भावनाओं से जुड़ी हुई, जिसे सुनकर किसी भी इंसान का दिल टूट सकता है।

वैसे तो यह कुत्ता बहुत ही प्यारा और अच्छे व्यवहार वाला था और यह परिवार इस कुत्ते को बहुत प्यार भी करती थी। लेकिन आगे जाकर इस व्यक्ति ने इस कुत्ते का कुछ अजीब सा व्यवहार देखा।

इस व्यक्ति ने अपने बैडरूम के गेट पर एक छोटा सा गेट लगा लगा रखा था उस कुत्ते के लिए, जिसकी बजह से वह कुत्ता इनके बैडरूम में नहीं आ पाता था और हर रात जब यह फॅमिली सो रही होती थी तो यह कुत्ता दरवाजे के उस छोटे से गेट पर अपने दोनों पंजो के सहारे खड़ा रहता था और सारी रात जगा रहता था और इन्हे देखता रहता था।

पहले-पहले तो इस व्यक्ति को लगा कि यह कुत्ता इस घर में नया है इसलिए इस घर को समझ रहा है देख रहा है। लेकिन यह कुत्ता जब हर रात को ही इनके बैडरूम में झांकता था और सारी-सारी रात नहीं सोता था और सिर्फ इन्हे देखता ही रहता था, तब इस व्यक्ति को थोड़ा सा अजीब लगा।

वह ब्यक्ति कुत्ते के इस व्यवहार को देखकर उसके लिए थोड़ा सा घबरा गया। व्यक्ति ने कुत्ते को और टाइम देना शुरू कर दिया उसके साथ खेलने लग गया, उसके लिए बहुत अच्छा सा बिस्तर भी बनवा दिया। वह व्यक्ति सारादिन कुत्ते के साथ खेलता था ताकि कुत्ता रात को आरामसे सो जाए। लेकिन कुत्ते के व्यवहार में कोई भी बदलाव नहीं आया और वह हार रात को उस व्यक्ति के बैडरूम के बाहर खड़ा होकर आरामसे उन्हें देखता रहता था।

उस व्यक्ति की चिंता धीरे-धीरे और बढ़ने लगी। व्यक्ति ने सोचा इस कुत्ते को कोई ऐसी बीमारी है जिसके बारे में उसे नहीं पता। और वह उस कुत्ते को लेकर कुत्तों के हस्पताल चला गया। डॉक्टरों ने वहां इस कुत्ते की जाँच करि और उन्हें कोई भी ऐसी बीमारी नहीं मिली। इससे उस व्यक्ति की कन्फूशन और भी बढ़ने लगी।

कुत्ते के इस व्यवहार को समझने के लिए वह व्यक्ति उसी एनिमल शेल्टर में चला गया जहाँ से उस व्यक्ति ने कुत्ते को अडॉप्ट किया था। जब एनिमल शेल्टर्स के वर्कर्स को  यह पता लगा कि यह कुत्ता ऐसा व्यवहार कर रहा है तो उन्होंने उस व्यक्ति को उस कुत्ते की सारी बात बताई।

दरहसल उस कुत्ते के पहले मालिक ने उस छोड़ दिया था। क्यों की उसकी बीवी प्रेग्नेंट थी और वह इसका ख्याल नहीं रख पा रहा था। इस बजह से कुत्ते के मालिक ने कुत्ते को एनिमल शेल्टर में तब भेज दिया जब यह कुत्ता सो रहा था।

जब यह कुत्ता उठा तो इसने आपको एनिमल शेल्टर में पाया। अपने आपको अपने मालिक द्वारा छोड़ देने से कुत्ता अंदर से बिलकुल टूट चूका था। दोबारा से एक नया मालिक और एक नया घर मिलने पर वह कुत्ता उन पर ट्रस्ट नहीं कर पा रहा था कि क्या यह मुझे रखेंगे या फिर जब मैं सो जाऊँगा तो यह फिरसे मुझे एक एनिमल शेल्टर में भेज देंगे।

अपने पहले मालिक के द्वारा किए गए गलती के कारण इस व्यक्ति पर वह कुत्ता ट्रस्ट भी नहीं कर पा रहा था। पर वह हर रात बैडरूम के गेट के बाहर खड़ा होकर बस यही देखता रहता कि यह लोग सोते रहे और मुझे फिरसे दोबारा किसी एनिमल शेल्टर में ना भेजे। इस बजह से यह कुत्ता सारी-सारी रात सोता भी नहीं था।

जब उस व्यक्ति ने कुत्ते की पूरी कहानी जानी तो वह फुट-फुट कर रोने लग गया। और उस व्यक्ति ने उसी दिन अपने बैडरूम के बाहर लगे छोटे से गेट को हटा दिया। यहाँ तक की उस व्यक्ति ने कुत्ते का बेड भी अपने बैडरूम में लगा दिया, यह सोचकर कि कुत्ते के खोये हुए विश्वास को जगा सके।

जिस भी व्यक्ति के पास जरा सा भी दिल होगा वह यह कहानी सुनकर समझ गया होगा कि उस कुत्ते ने कैसा फील किया होगा जब इसे छोड़ दिया गया था।

यह कहानी हमें साफ-साफ बताती है कि कुत्ता या फिर और जानवर कैसे भावनाओं से जुड़ा हुआ होता है। कुत्ता सिर्फ खेल कूद या सुरक्षा का कोई वस्तु नहीं होता जिसको आप अपने जरुरत के हिसाब से यूज़ करे और जब छोड़ दे। कुत्ता आपके ऊपर एक विश्वास रखता है, जिस तरह से आप अपने किसी फॅमिली मेंबर पर विश्वास रखते हैं कि यह हमें धोखा नहीं देगा, कभी भी बुरे वक्त में छोड़ेगा नहीं। इन जानवरों के आदर और विश्वास का सम्मान करना सीखे इन्हे तोड़िये मत।

 

अगर इस कहानी ने आपके दिल को भी जरा सा छुया है तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर जरूर करे और कमेंट में बताइए कि आप इस कुत्ते की कहानी के बारे में क्या सोचते है।

 

यह भी पढ़े: –

 

 

Follow Me on Social Media

1 thought on “सोता नहीं था यह कुत्ता बस मालिक को देखता रहता था सारी रात – कारण जानकर दिल टूट गया मालिक का”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *