Very Sad Hindi True Love Story

Very Sad Hindi True Love Story: बस एक तू ही नहीं मिला

Very Sad Hindi True Love Story: जब भी किसी को किसी से प्यार होता है तो मानो उसकी पुरि दुनिया ही बदल जाती है। लेकिन कभी कभी समय  के साथ साथ आपको अपने प्यार में कई तरह के बदलाव दिखने को मिल जाते है। समय के साथ साथ बदलते रिश्तों की एक ऐसी ही एक कहानी आज हम आपके साथ शेयर करेंगे।

 

Very Sad Hindi Love Story

यह कहानी है श्रद्धा और अमित की। दोनों ही कॉलेज में एक साथ पढ़ते थे और अमित का घर श्रद्धा के घर के पास ही था। दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे। दोनों के परिवार में भी काफी अच्छा रिश्ता था। श्रद्धा की माँ और अमित की माँ अक्सर एक दूसरे के घर आया जाया करते थे। हर सुख दुःख में दोनों के परिवार वाले एक दूसरे के लिए खड़े होते और यही बजह थी कि श्रद्धा और अमित के रिश्ते भी काफी अच्छे थे, जो वक्त के साथ साथ प्यार में तब्दील हो गए।

 

अमित अक्सर किसी भी चीज के बहाने श्रद्धा से मिलने उसके घर आया करता तो कभी कभी श्रद्धा भी अमित की माँ से मिलने उसके घर चली जाया करती थी। दोनों के प्यार का सिलसिला इसी तरह चलता गया। एक बार अमित श्रद्धा के घर आता है कुछ बहाने से और उसे एक लेटर देकर चला जाता है। श्रद्धा उस लेटर को अपने हाथ में पकड़ी एक बुक पर रख देती है। तभी श्रद्धा की माँ उसी बुलाती है तो श्रद्धा जल्दबाजी में बुक को अपने रूम में रखने की बजाई हॉल के टेबल में रख देती है।

 

कुछ देर बाद श्रद्धा का बड़ा भाई बाहर से आता है और उसे हॉल में वह बुक दिखाई पढ़ती है और उसे दीखता है कि उस बुक में एक सफ़ेद कागज जैसा कुछ है। श्रद्धा का भाई उसे देखने के लिए टेबल से बुक उठा लेता है और उसे दीखता है कि वह एक लेटर है। लेटर खोलते ही जो उसने देखा देखते ही गुस्से से पूरा लाल हो चूका था। श्रद्धा के भाई ने पहले तो अपने सभी घरवालों को बुलाया और फिर श्रद्धा को बुलाया। सबके सामने श्रद्धा के बड़े भाई ने उसे जोर से एक चाटा मारा फिर वह लेटर अपने माँ-बाबा को दिखाया।

 

श्रद्धा के माँ ने जब वह लेटर देखा तो वह भी गुस्सा हो गई और कहने लगी, “यही सब करने के लिए तुझे इतनी आजादी दे रखी है क्या। पढाई के बदले यह सब करती है तू?” यह कहकर श्रद्धा के माँ ने भी उसे बहुत चाटे मारे।

 

 

इस घटना के बाद से दोनों परिवारों में दूरिया आ गई। लेकिन श्रद्धा और अमित का प्यार कहाँ कम होने वाला था। दोनों कॉलेज के बहाने अब घर से बाहर मिलने लगे। दोनों कभी रेस्टुरेंट जाते तो कभी पार्क में घूमने जाते। दोनों में प्यार और भी ज्यादा बढ़ने लगा।

 

देखते ही देखते अमित ने अपनी इंजीनिरिंग पूरी कर ली और अब वह जॉब के लिए शहर से बाहर जाने लगा। अमित के चले जाने के नाम से श्रद्धा बहुत अपसेट रहा करती थी। लेकिन आखिरकार एक दिन अमित चला गया। अमित के चले जाने के बाद अब दोनों की बातें फ़ोन पर ही होती थी। वक्त निकलकर दोनों एक दूसरे से घंटों तक बातें करते।

 

धीरे धीरे श्रद्धा के पास अमित का फ़ोन आना बहुत कम हो गया। श्रद्धा जब अमित को फ़ोन करती तो अमित फ़ोन उठाकर श्रद्धा को यह कह देता कि वह अभी बिजी है और कभी कभी तो अमित फ़ोन ही नहीं उठाता था। ऐसे में श्रद्धा अमित के लिए पागल सी होने लगी थी। अब श्रद्धा का न खाने में मन लगता, न पढ़ाई में और न किसी और कामो में।

 

एक बार अमित अपने घर वापस आया। उस दिन श्रद्धा बहुत ज्यादा खुश थ और अमित से मिलने के लिए बेकरार थी। लेकिन अमित तो ऐसे बर्ताव कर रहा था कि मानों वह श्रद्धा को जानता ही न हो। यह देखकर श्रद्धा पूरी टूट सी गई। उसे समझ आ गया कि बाहर जाने के बाद अमित अब अपने लाइफ में बहुत आगे बढ़ चूका है। उसे लगा की अमित को शायद कोई ओर मिल गई हो या फिर वह अपने घरवालों कहने पर उससे कोई रिश्ता न रखना चाहता हो।

 

 

श्रद्धा ने अपने दिल को समझाने की पूरी कोशिश तो की लेकिन श्रद्धा अब भी अमित को भूल नहीं पा रही थी। और अब तो मानों श्रद्धा का प्यार से विश्वास ही उठ गया। श्रद्धा ने फैसला कर लिया कि अब वह अमित को भुला देगा।

 

कुछ महीनों बाद श्रद्धा को भी एक अच्छी कंपनी में जॉब मिल गई। अब श्रद्धा के पास भी सब कुछ था जो उसे चाहिए था। लेकिन अक्सर रात को यही सोचती है कि उसे सब कुछ मिला बस उसे अपना प्यार ही नहीं मिला।

 

अगर आपको यह Sad Hindi Love Story अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करे सभी के साथ और असेही और भी कई लव स्टोरीज पढ़ने के लिए  इस ब्लॉग को सब्सक्राइब भी करे।

 

यह भी पढ़े:- 

 

Follow Me on Social Media

1 thought on “Very Sad Hindi True Love Story: बस एक तू ही नहीं मिला”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *