शरीर का घमंड | Motivational Story in Hindi

शरीर का घमंड | Motivational Story in Hindi

 

आज मैं आपको जो कहानी ( Motivational Story in Hindi) सुनाने वाली हूँ वह कहानी है एक राजा की जो की अपने सुंदर शरीर को लेकर बहुत घमंड करता था तो चलिए इस कहानी को शुरू करते है।

 

शरीर का घमंड

Motivational Story in Hindi

एक महान राजा अपने गुरु का काफी सम्मान करते थे। राजा शरीर से बहुत सुंदर थे और उनका चेहरा हमेशा चमकता रहता था। गुरु के चेहरे पर बचपन से ही कुछ दाग थे, जिसकी बजह से उनका चेहरा इतना आकर्षक नहीं था। लेकिन उनकी ज्ञान और उनकी सूझबूझ से राजा अपना काम हमशा कुशलतापूर्वक कर पाता था।

 

राजा के मन में अपने शरीर को लेकर श्रेष्ठता की भावना  घर करने लगी थी। एक बार राजा ने मजाक के स्वर में अपने गुरु से कह दिया, “गुरुवर मैं आपकी समझ और चतुरता का बहुत सम्मान करता हूँ, आपसे ज़्यादा विद्वान मैंने आज तक कहीं नहीं देखा। लेकिन अच्छा होता अगर प्रकृति ने आपको सुंदर रूप भी दिया होता।”

 

गुरु ने जान लिया कि राजा को अपने सौन्दर्य पर घमंड हो गया है और वह सौन्दर्य के सामने विद्या को तुच्छ समझने लगे है। पर गुरु उस समय चुप रह गए और थोड़े समय बाद राजा से विदा लेकर अपने घर आ गए।

 

 

अगले दिन उन्होंने दरवार में राजा के आने से पहले सेवक से कहकर एक मिट्टी का घड़ा और एक सोने का घड़ा रखवा दिया। दोनों घड़ों में शुद्ध जल भरवा दिया। समय से राजा आए और जनता का काम काज शुरू हो गया।

 

थोड़ी ही देर में राजा को प्यास लगी तो गुरु के आदेश अनुसार उन्हें सोने के घड़े का पानी पेश किया गया। पानी का स्वाद बिगड़ा हुआ था। राजा ने पूछा, “यह कैसा पानी है इतना गरम क्यों है?” तुरंत ही गुरु के इशारे पर सेवक ने उन्हें मिट्टी के घड़े से पानी दिया।

 

गुरु ने पूछा, “महाराज! यह पानी पीकर देखिए क्या यह ठीक है?” इस बार राजा पानी पीकर संतुष्ट हुआ। उन्होंने पूछा, “वह कैसा पानी था और मुझे क्यों दिया?” गुरुदेव बोले, “महाराज! वह सोने के घड़े का पानी था। हमने सोचा मिट्टी के कुरूप घड़े के जगह सोने के सुंदर घड़े का पानी आपको ज़्यादा अच्छा लगेगा।”

 

 

राजा को तुरंत बात समझमें आ गई उन्हें जवाब मिल चूका था।

 

किसी ने ठीक ही कहा है, व्यक्ति की सुंदरता उसके चेहरे से नहीं बल्कि उसके व्यव्हार और विचारो से पता चलती है।

 

आपको यह कहानी “शरीर का घमंड | Motivational Story in Hindi” कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर अच्छा लगे तो इसे शेयर जरूर करे और असेही और भी कहानियां पढ़ने के लिए  को सब्सक्राइब जरूर करे।

 

यह भी पढ़े:-

 

Follow Me on Social Media

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *