पत्नी का भुत | Ghost of Wife Story in Hindi

पत्नी का भुत | Ghost of Wife Story in Hindi

 

पत्नी का भुत

Ghost of Wife Story in Hindi

एक आदमी की पत्नी अचानक से बहुत बीमार पैड गई। मरने से पहले उसने अपने पति से कहा, “मैं तुम्हे बहुत प्यार करती हूँ। तुम्हे छोड़कर नहीं जाना चाहती। मैं नहीं चाहती कि मेरे जाने के बाद तुम मुझे भुला दो और किसी दूसरी औरत से शादी करो। वादा करो कि मेरे मरने के बाद तुम किसी और से प्रेम नहीं करोगे वरना मेरी आत्मा तुम्हे चैन सी जीने नहीं देगी।” इतना कहकर वह चल बसी।

 

उसके जाने के बाद उस आदमी ने किसी दूसरी औरत की तरफ देखा तक नहीं। एक दिन उसकी मुलाकात एक ऐसी लड़की से हुई जिसे वह चाहने लगा। बात बढ़ते-बढ़ते शादी तक आ गई और उनकी शादी हो गई। शादी के ठीक बाद आदमी को लगा कि कोई उससे कुछ कह रहा है, मुड़कर देखा तो वह उसकी पहली पत्नी की आत्मा थी।

 

आत्मा बोली, “तुमने अपना वादा तोड़ा है, अब मैं हर रोज तुम्हे परेशान करने आऊंगी।” इतना कहकर वह गायब हो गई।

 

आदमी घबरा गया। उसे रात भर नींद नहीं आई। अगले दिन भी रात को उसे वहीं आवाज सुनाई दी “मैं तुम्हे चैन से जीने नहीं दूंगी। मैं जानती हूँ कि आज तुमने  अपनी नई पत्नी से क्या-क्या बातें की।” उसने आदमी को एक-एक बातें बता दी जो उसने अपनी पत्नी से करि थी।

 

अगले दिन वह शहर से बहुत दूर एक जैन मास्टर के पास गया और सारी बात बता दी। मास्टर बोले, “यह प्रेत बहुत चालाक है।” आदमी घबराते हुए बोला, “बिलकुल है, तभी तो उसे मेरी हर एक बात पता होती है।” मास्टर बोले, “कोई बात नहीं मेरे पास इसका भी इलाज है। इस बार जब तुम्हे तुम्हारी पत्नी की आत्मा दिखाई दे तो ठीक वैसा ही करना जैसा मैं तुम्हे कहूं।”

 

उस रात जब आत्मा वापस आई तो आदमी बोला, “तुम इतनी चालाक हो कि मैं तुमसे कुछ भी नहीं छिपा सकता और जैसा की तुम चाहती हो मैं अपनी दूसरी पत्नी को छोड़ने के लिए भी तैयार हूँ। पर उसके लिए तुम्हे मेरे एक प्रश्न का उत्तर देना होगा और अगर तुम उत्तर ना दे पाई तो तुम्हे हमेशा के लिए मेरा पीछा छोड़ना होगा।”

 

आत्मा बोली, “मंजूर है। पूछो अपना प्रश्न।”

 

 

आदमी ने फौरन जमीन पर पड़े सारे छोटे-छोटे  कंकड़ अपनी मुट्ठी में भर लिए और बोला, “बताओ मेरी  मुट्ठी में कितने कंकड़ है?” और ठीक उसी समय वह आत्मा वहाँ से गायब हो गई।

 

कुछ हप्तों बाद वह एक बार फिरसे जैन मास्टर के पास उनका शुक्रिया अदा करने पहुंचा। आदमी बोला, “मास्टर उस बहुत से पीछा छुड़ाने के लिए मैं जीवन भर आपका आभारी रहूँगा। पर मैं  समझ नहीं पाया कि आखिर उस प्रश्न में ऐसा क्या था कि एक झटके में ही भुत गायब हो गया।”

 

मास्टर बोले, “बेटा, दरहसल कोई भुत था ही नहीं।”

 

आदमी आश्चर्य से बोला, “मतलब!”

 

मास्टर  ने समझाया, “हाँ। दरहसल दूसरी शादी करने की बजह से तुम्हे एक अपराधबोध महसूस हो रहा था और उसी बजह से तुम्हारा दिमाग एक भ्रम की स्तिथि पैदा कर तुम्हे भुत  का अनुभव करा रहा था।”

 

आदमी ने पूछा, “अगर ऐसा था तो वह मेरी हर एक बात कैसे जान जाता था।”

 

मास्टर मुस्कुराते हुए बोले, “क्यूंकि वह तुम्हारा बनाया हुआ एक भुत था, इसलिए जो कुछ तुम जानते थे वही वह भी जानता था। और यही कारण था कि मैंने तुम्हे वह कंकड़ वाला प्रश्न पूछने को कहा। क्यूंकि मैं जानता था कि इसका उत्तर तुम्हे भी नहीं पता होगा और इसलिए भुत भी इसका उत्तर नहीं दे पाएगा और तुम्हे तुम्हारे दिमाग की ही उपज से  छुटकारा मिल जाएगा।”

 

 

आदमी अब पूरी बात समझ चूका था। उसने एक बार फिर मास्टर को धन्यवाद किया और अपने  घर लौट गया।

 

फ्रेंड्स, कई बार हुमारे मन में भी किसी पुरानी बात को लेकर गलत भावनाएं रह जाती है पर अधिकतर मामलों में हम किसी पुरानी घटना को याद कर अफ़सोस करते हैं और कभी कभार खुद पर क्रोधित भी हो जाते हैं। ऐसा बार-बार करना गलत है अपने भुत की बजह से अपने भविष्य और वर्तमान को बिगाड़ने में कोई समझदारी नहीं है। इसलिए अगर आप भी किसी पुरानी घटना की बजह से अपराधबोध महसूस करते है तो ऐसा न करे। गलतियां करना मनुष्य का स्वभाव है  सभी करते है। जीवन में आपने भी कई गलतियां की होगी लेकिन कोई बात नहीं। उस घटना को पीछे चोदे और अपने जीवन को सार्थक बनाने की दिशा में काम करे।

 

तो यह थी कहानी Ghost of Wife Story in Hindi अगर आपको यह कहानी “पत्नी का भुत | Ghost of Wife Story in Hindi” अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करे और कमेंट में अपना विचार जरूर बताए कि आपको  कैसी लगी और असेही और  कहानियां पढ़ने के लिए हमारे इस ब्लॉग  सब्सक्राइब भी जरूर कर ले।

 

यह भी पढ़े:-

 

Follow Me on Social Media

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *