YouTube Success Story in Hindi

YouTube Success Story in Hindi | यूट्यूब की सफलता की कहानी

दोस्तों आज मैं आप सबको बताने वाली हूँ दुनिया के सबसे बड़े वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म यूट्यूब की सफलता की कहानी के बारे में (YouTube Success Story in Hindi) तो इस लेख को पूरा जरूर पढ़िए मैं उम्मीद करता हूँ आपको यह कहानी बेहद पसंद आएगी।

 

YouTube Success Story in Hindi

भले ही लोग आपसे कुछ भी कहें शब्द और आईडिया दुनिया बदल सकते हैं। दोस्तों किसी के दिमाग में आया हुआ आईडिया कितना कीमती हो सकता है यह आज आप इस कहानी से समझ जाएंगे। हम सभी के दिमाग में कई ऐसे आइडियाज आते हैं मगर हम अक्सर उन पर ध्यान नहीं देते और उन्हें भूल जाते हैं।

 

यह कहानी है उन तीन दोस्तों की जिन्होंने अचानक आए एक आईडिया को दुनिया के टॉप कंपनी का हिस्सा बना लिया। हम बात करने जा रहे हैं YouTube के बारे में, जिसको मात्र 13 सालो में ही लोगों के प्यार और विश्वास ने बहुत आगे बढ़ा दिया।

 

इस वेबसाइट के आंकड़े एकदम चौंका देने वाले हैं। इस पर कुल 325 करोड़ घंटे का वीडियो देखा जाता हैं केवल एक महीने में। तो चलिए फ्रेंड्स इसके बारे में शुरू से जानते हैं और साथ ही जानते हैं वह रोचक कहानी जिसने YouTube को जन्म दिया।

 

YouTube की स्थापना 14 February. 2005 में तीन दोस्तों ने की थी। उन तीनो का नाम स्टीवन चेन (Steven Chen), चैड हर्ली (Chad Hurley) और जावेद करीम (Jawed Karim) हैं। YouTube बनाने से पहले यह तीनो दोस्त PayPal कंपनी में काम करते थे। चैड और करीम दोनों दोनों एक साथ यूनिवर्सिटी ऑफ़ इलेनॉइस से कंप्यूटर साइंस पढ़े हैं।

 

जैसा की मीडिया में खबर आई थी कि YouTube को बनाने का आईडिया स्टीवन और चैड का था जिसकी कहानी बहुत इंट्रेस्टिंग हैं। हुआ यु कि सनफ्रांसिको में स्टीवन के अपार्टमेंट में डिनर पार्टी रखी गई थी जिसको जावेद अटेंड नहीं कर पाए। स्टीवन और चैड के कहने पर भी जावेद को विश्वास नहीं हो रहा था कि कोई पार्टी हो रही है। इसलिए जावेद को गलत साबित करने के लिए स्टीवन और चैड ने एक वीडियो बनाई और उसको जावेद को भेजने का फैसला किया। लेकिन उनको वीडियो शेयर करने में कुछ कठिनाइयां आई। उसी वक्त उन दोनों के दिमाग में  YouTube बनाने का आईडिया आया।

 

जब तीनो ने YouTube के कांसेप्ट को एक-दूसरे के साथ डिसकस कर ली तब उन्होंने “hot or not” नाम की वेबसाइट से इंस्पायर होकर वेबसाइट बनाना शुरू कर दिया जो की ऑनलाइन डेटिंग वेबसाइट है। YouTube की शुरुवात एक वेंचर कैपिटल फंडेड टेक्निकल स्टार्टअप (Venture Capital Funded Technical Startup) की तरह हुई, जिसको सेकोईअ कैपिटल (Sequoia Capital) ने November, 2005 से April, 2006 के बीच में 11.5 मिलियन डॉलर का इन्वेस्टमेंट दिया।

 

 

YouTube का शुरुवाती हेडक्वार्टर California के San Mateo के एक जैपनीज़ रेस्टुरेंट के ऊपर था। YouTube में सबसे पहली वीडियो 23 April, 2005 को अपलोड हुई थी, उसका टाइटल था “Me at the Zoo” जिसमें YouTube के को-फाउंडर जावेद करीम को San Deigo Zoo में दिखाया गया।

 

सबसे पहली वीडियो जिसे 1 मिलियन बार देखा गया था वह था Nike कंपनी का एक प्रचार, जिसमें बब्राजील के स्टार फुटबॉलर रोनाल्डिनो दिखाए गए थे। इस साइट को ऑफिशियली 15 December, 2005 को लांच किया गया। इस समय पर इस वेबसाइट पर 1 मिलियन व्यूज हर दिन आ रहे थे। इसके बाद YouTube ने बहुत तेजी से ग्रो किया। May, 2011 के आंकड़े यह कहते हैं कि हर मिनट पर इस साइट पर 48 घंटों के नए वीडियो अपलोड होते थे, जो January, 2012 में बढ़कर 60 घंटे, May, 2013 में 100 घंटे, November 2014 में 300 घंटे और February, 2017 में 400 घंटे तक बढ़ गए थे।

 

अलेक्सा रैंकिंग (Alexa Ranking) के हिसाब से YouTube दुनिया की दूसरी सबसे ज़्यादा इस्तिमाल की जाने वाली साइट है। October, 2006 में Google ने YouTube को 1.65 बिलियन डॉलर में खरीद लिया और यह डील 13 November, 2006 को फाइनल हुई। May 2007 में YouTube के पार्टनर प्रोग्राम की शुरुवात हुई जो Google AdSense पर आधारित था। इस प्रोग्राम में क्रिएटर्स को उनके वीडियो पर आए हुए प्रचारों के लिए पैसे दिए जाते हैं। YouTube की कमाई Advertising Revenue की बजह से होती है जो Google AdSense प्रोग्राम के द्वारा ही संभव हैं।

 

July, 2010 में YouTube ने Live Streaming भी शुरू कर दी जहाँ पहली बार IPL के कुल सात मैचों को Live Streaming में दिखाया गया। यह सिर्फ वीडियो शेयरिंग का ही प्लेटफार्म नहीं बल्कि एक ऐसा प्लेटफार्म भी बन चूका हैं जहाँ बहुत से लोग अपना स्टार्टअप भी करते हैं अपना खुद का चैनल बनाकर।

 

बहुत से लोग ऐसे हैं जो अपने टैलेंट और वीडियोग्राफी के दम पर YouTube पर ही अपना रोजगार बना चुके हैं और यही इस वेबसाइट की ख़ूबसूरती है। यह टैलेंट को बढ़ाबा देने में कसर नहीं छोड़ती। यहाँ कोई भी अपना टैलेंट और अपना विचार लोगों तक पहुँचा सकता हैं। यह वेबसाइट दुनिया की दूसरी सबसे ज़्यादा इस्तेमाल की जाने वाले सर्च इंजन बन चुकी है। पढाई हो या मनोरंजन इस पर हर तरह की वीडियो आपको मिल ही जाती हैं। यह प्लेटफार्म लोगों को घर बैठे पैसे कमाने का एक साधन देता है। यही बात YouTube को सबसे अलग और यूनिक बनाती है।

 

 

तो दोस्तों यह थी यूट्यूब की सफलता की कहानी (YouTube Success Story in Hindi) अगर आपको यूट्यूब की यह सक्सेस स्टोरी अच्छी लगी तो कमेंट में जरूर बताएं और इसे शेयर भी जरूर करें और हमें हमारे सोशल मीडिया अकाउंट में फॉलो जरूर करें।

 

यह भी पढ़े:-

 

Follow Me on Social Media

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *