गिलहरी और पत्थर का अखरोट | Squirrel and Stone Nut Story in Hindi

Squirrel and Stone Nut Story in Hindi

गिलहरी और पत्थर का अखरोट

एक बार एक जंगल में एक बहुत ही बड़ा पेड़ था जिस पर बहुत सारी गिलहरी रहती थी। वह सभी बहुत खुश थे। बस वहाँ एक परेशानी थी। उस परेशानी का नाम था बीगपेरी। बीगपेरी पुरे इलाके में सबसे बड़ी गिलहरी थी, जिसे दुसरो को परेशान करना बहुत अच्छा लगता था।

 

उसी पेड़ में एक छोटी सी गिलहरी भी रहती थी जिसे बीगपेरी से डर नहीं लगता था। बीगपेरी हमेशा स्ट्रीकी के परेशान करता रहता और उसके अखरोट चुरा लेता। स्ट्रीकी बहुत गुस्से में था पर वह कुछ नहीं कर सकता था।

 

 

एक दिन स्ट्रीकी ने तय किया कि वह बीगपेरी को सबक सिखाके रहेगा। उसने एक पत्थर जो की बिलकुल अखरोट जैसा दीखता था उसे अपने फलो की टोकरी के साथ रख दिया।

 

दूसरे दिन जब बीगपेरी स्ट्रीकी के पास आया तो उसने देखा कि स्ट्रीकी के पास टोकरी भर फल हैं। बीगपेरी ने फलो की टोकरी स्ट्रीकी के पास से छीन ली और सारे फल खाने लगा।

 

 

फल खाते-खाते उसके हाथ वह पत्थर का अखरोट आया। उसने जैसे ही अखरोट मुँह में लिया वह बहुत जोर से चिल्ला उठा। पत्थर के अखरोट से बीगपेरी के दांत टूट गए और वह दर्द से इधर-उधर दौड़ने लगा।

 

शिक्षा – इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि हमें कभी भी दुसरो को परेशान नहीं करना चाहिए। 

 

यह थी गिलहरी और पत्थर की अखरोट की एक छोटी सी कहानी। अगर आपको यह कहानी “गिलहरी और पत्थर का अखरोट | Squirrel and Stone Nut Story in Hindi” अच्छी लगी तो निचे कमेंट में जरूर बताएं और अच्छा लगे तो इसे शेयर भी जरूर करें।

 

यह भी पढ़े:-

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.