You are currently viewing बरमूडा त्रिकोण का रहस्य | Mysterious Story of Bermuda Triangle in Hindi
बरमूडा त्रिकोण का रहस्य | Mysterious Story of Bermuda Triangle in Hindi

बरमूडा त्रिकोण का रहस्य | Mysterious Story of Bermuda Triangle in Hindi

Story of Bermuda Triangle in Hindi

यह समुद्र में मौजूत सबसे बड़ा राज़ है। पानी से गुजरो या फिर हवा से यहाँ पर कोई नहीं बचता। आज तक हज़ारो नाउ और जहाज कहाँ चले गए किसी को भी नहीं पता। इसे डेविल्स ट्रायंगल भी कहा जाता है यानि शैतानी त्रिकोण। मैं यहाँ बात कर रहा हूँ बरमूडा ट्रायंगल की। आज इस लेख में हम बरमूडा ट्रायंगल के रहस्यमय कहानी के बारे में बात करेंगे।

 

आज विज्ञान शीर्ष पर पहुँच गई है पर विज्ञान अभी भी इस ट्रायंगल की मिस्ट्री को सॉल्व नहीं कर पाई है। उसकी बजाहो के बारे में किसी को भी नहीं पता लेकिन इस जगह को लेकर कहीं असाधारण बात का जिक्र लोग करते आएं हैं जिन पर यकीं करना बहुत ही मुश्किल है। लोगों के हिसाब से इस जगह पर ऐसे बहुत से हादसे हुए हैं जो डराने वाली है और रहस्य से भरपूर है।

 

इस जगह पर अजीब सी घटनाएं आज से ही नहीं बल्कि 1492 से होती आ रही है। क्रिस्टोफर कोलंबस ने यह कहा था कि जब यह अपने जहाज से समुद्र की तरफ आगे बढ़ रहे थे तो उन्हें इस क्षेत्र में बहुत सारी लाइट्स दिखाई दी थी और उन्हें बिना किसी हवा के लेहेर उठते दिखाई दी थी। उन्होंने यह भी कहा था कि उनका कंपास इस जगह पर काम नहीं कर रहा था। उनका कंपास रोटेड कर रहा था और उन्हें गलत डायरेक्शन दिखा रहा था।

 

अगर हम नए ज़माने की बात करें तो तो साइंस और टेक्नोलॉजी से भरी हुई इस दुनिया में आज भी बहुत सारे घटनाएं होते हैं इस रहसयमय जगह पर। Flight 19, 1945 की घटना उन सब घटनाओ में से सबसे प्रसिद्ध है। 5 दिसंबर 1945 को 14 नेभी एयरमैन ने उड़ान भरी आसमान में। वह उन लोगों की एक ट्रेनिंग की एक पार्ट थी।

 

 

1 घंटा 45 मिनट के बाद उस फ्लाइट के लीडर चार्ल्स सी. टेलर ने कण्ट्रोल टावर को रेडियो के जरिए मैसेज भेजा कि उन्हें कुछ समझमे नहीं आ रहा है कि उनके साथ क्या हो रहा है। टेलर ने यह भी कहा कि उनका तीनो कंपास काम नहीं कर रहा है। वह किस दिशा में जा रहे हैं कुछ समझमे नहीं आ रहा हैं। उस दिन की बाद फ्लाइट 19 कभी नहीं पाया गया न किसी समुद्र पर और न ही समुद्र के निचे मानो बिलकुल वह गायब हो गया हो।

 

उसी दिन शाम को एक और सर्च प्लेन भेजा गया Flight 19 को भेजने के लिए। सिर्फ 27 मिनट के बाद वह सर्च प्लेन और उसमे 13 मेंबर्स भी गायब हो गए। किसी को नहीं पता की वह प्लेन कहाँ गया।

 

USS Cyclops की कहानी भी कुछ ऐसी ही है। USS Cyclops जहाज 1918 में 309 लोगों के साथ Baltimore, US जा रही थी। वह जहाज भी बरमूडा त्रिकोण से गुजरते वक्त गायब हो गई थी। उस जहाज का एक भी टुकड़ा किसी को भी नहीं मिला। अमेरिकी इतिहास की यह सबसे बड़ी लॉसेस में से एक है क्यूंकि उस समय यह पहली बार हुआ था कि किसी जहाज की सफर ने 309 लोगों की जान ले ली।

 

1941 में भी USS Cyclops के दो सिस्टर जहाजे ब्रोटिस और नेरेस उसी क्षेत्र में गायब हो गए। इसी शैतानी 5 लाख स्क्वायर मिल के जगह ने पिछले सदी में लगभग हज़ारो जहाजों और बिमानो को निगल लिया। यह जगह दुनिया की उन जगहों में से एक हैं जहाँ पर आसमान में अजीब तरिकी की लाइट्स दिखती है और इसके चलते बहुत लोगों का मानना है कि इस जगह पर एलियंस एग्ज़िस्ट करते हैं और एलियंस इस जगह पर लोगों का अपहरण करते हैं।

 

 

लोगों का तो यह भी मानना हैं कि यह जगह एक पोर्टल यानि दयार है जो आपको दूसरी डायमेंशन यानि आयाम में ले जाती है। यह तो सिर्फ लोगों का मानना है की ऐसा हो सकता है लेकिन असल बात क्या है यह किसी को भी नहीं पता।

 

उम्मीद करता हूँ आपको यह लेख “बरमूडा त्रिकोण का रहस्य | Mysterious Story of Bermuda Triangle in Hindi”पसंद आई होगी और अगर अच्छा लगे तो कमेंट जरूर करिए।

 

यह भी पढ़े:-

 

Sonali Bouri

मेरा नाम सोनाली बाउरी है और मैं इस साइट की Author हूँ। मैं इस ब्लॉग Kahani Ki Dunia पर हिंदी कहानी , प्रेरणादायक कहानी, सक्सेस स्टोरीज, इतिहास और रोचक जानकारियाँ से सम्बंधित लेख पब्लिश करती हूँ हम आशा करते है कि आपको हमारी यह साइट बेहद पसंद आएगी।

Leave a Reply