कौआ और बूढ़ी औरत | The Crow And The Old Woman Story in Hindi

कौआ और बूढ़ी औरत | The Crow And The Old Woman Story in Hindi

कौआ और बूढ़ी औरत

 

The Crow And The Old Woman Story in Hindi

 

इस लेख में मैं जो कहानी आपको सुनाने वाली हूँ उसका नाम है “कौआ और बूढ़ी औरत | The Crow And The Old Woman Story in Hindi” .

 

एक गाँव था जिसका नाम सिंगनल्लूर था। वहाँ एक पीपल का पेड़ था जो कौओ के झुंड का घर था। हमेशा की तरह एक दिन सभी कौए खाने की तलाश में सुबह-सुबह निकल पड़े, सीबाई एक कौए के। सूरज निकल चूका था और वह कौआ अभी तक सो रहा था। कुछ देर बाद उसकी आँख खुली तो उसने देखा सभी कौए खाने की तलाश में निकल चुके थे। उसी वक्त वह भी जल्दी से खाने की तलाश में निकल पड़ा।

वह कौआ खाने की तलाश में गाँव की सड़को पर छानबीन करने लगा। कौआ उड़ते-उड़ते थक चूका था और एक छद पर जाकर बैठ गया। उसी वक्त बहुत ही स्वादिस्ट एक खुसबू उसके पास आई। कौए ने हर तरफ देखा की यह पता करने के लिए कि खुसबू कहाँ से आ रही थी। एक बूढ़ी औरत वड़ा कर रही थी जिसकी यह खुसबू थी। वड़ा का साइज देखकर कौए के मुँह में पानी आ गया और तुरंत उसे वड़ा खाने की इच्छा हुई। कौआ निचे उतरा और उस औरत के पास जाकर बैठ गया।

 

कौआ धीरे से उस वड़े के प्लेट के पास गया लेकिन औरत ने उसे देख लिया और कौआ डरके मारे उड़ गया। उसी वक्त कौए को एक आईडिया आया। जल्दी से वह घर के पिछवाड़े चला गया और अजीब तरह से चिल्लाने लगा। चिल्लाने की आवाज सुनकर बूढ़ी औरत घर के पिछवाड़े पर गई। जैसे ही वह औरत वहाँ से गई कौए ने वड़ा उठाया और घर की ओर रवाना हो गया।

कौआ बहुत खुश था और वड़ा खाने ही वाला था कि उसी वक्त एक लोमड़ी उसके पास से गुजरा। जैसे ही उसने वड़े को देखा वह कौए से छीन लेना चाहता था। लोमड़ी ने एक सुझाब सोचा। उसने कौए से कहा, “बाह! मेरे प्यारे दोस्त, तुम्हारी आँखे तो बड़ी प्यारी और न्यारी है और तुम्हारे पँख इतने सुंदर हैं कि उसके लिए मेरे पास शब्द ही नहीं है।” लोमड़ी बोलता ही रहा।

 

कौए को अपनी तारीफ अच्छी लगी और यह बातें सुनकर वह फुला नहीं समा रहा था। फिर लोमड़ी ने कहा, “ऐसे खूबसूरत पंची की आवाज भी बहुत सुरीली होनी चाहिए फिर। क्या तुम मेरे लिए एक गण गाओगे दोस्त?” कौआ पूरी तरह बहक चूका था। कौआ जोर-जोर से काउ-काउ करने लगा और उसके मुँह से वड़ा निचे गिर गया और लोमड़ी ने उसे उठा लिया। लोमड़ी वड़ा लेकर जंगल की ओर भाग गया। कौआ बेवकूफ और मायूस बन गया और पछताते हुए बोला, “मुझे उस लोमड़ी की बात नहीं माननी चाहिए थी।”

 

आपको यह कहानी “कौआ और बूढ़ी औरत | The Crow And The Old Woman Story in Hindi” कैसी लगी निचे कमेंट जरूर करे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करे और भी नई कहानियां पढ़ने के लिए क्यूंकि हम इस ब्लॉग पर रेगुलर नए पोस्ट पब्लिश करते हैं।

 

यह भी पढ़े

मूर्ख बंदर | Silly Monkey | Panchatantra Moral Story In Hindi

एक रूपए का घोडा | Ek Rupay Ka Ghoda | Hindi Kahani

समय का महत्व | Samay Ka Mahatva Story In Hindi

हाथी और चूहे | Elephant And Mouse Story In Hindi

बड़ी सीख | Big Lesson | Moral Story In Hindi

 

(Read More Stories in Hindi)

कछुआ और खरगोश की कहानी

बेवकूफ खरगोश की कहानी

बंदर और मगरमच्छ

घोड़ा और किसान

सोने का फल

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *