पुराना स्कूल | Real Horror Story in Hindi

पुराना स्कूल | Real Horror Story in Hindi

पुराना स्कूल | Horror Story in Hindi, यह एक हॉरर स्टोरी है और आज की यह स्टोरी थोड़ी इंट्रेस्टिंग और डरावनी होने वाली है, इसलिए इस कहानी को पूरा जरूर पढ़िए।

(Horror Story in Hindi)

 

गर्मियों का समय था। आठ फ्रेंड्स का एक ग्रुप जिसमे चार लड़के और चार लड़किया थी, जो साथ में एक ही स्कूल में पढ़ते थे। एक रात वे सब एक फ्रेंड के घर पार्टी करने गए। रात के करीबन 2 बज चुके थे। धीरे-धीरे मजाक और मस्ती की बातें हॉरर और स्केरी बातों की ओर चली गई। उनमें से कोई भी इन सब बातों में विश्वास नहीं करता था। तो बस अपनी हिम्मत को आज़माने के लिए उन्होंने रात को अँधेरे में उनके शहर की सबसे हॉन्टेड जगह में जाने का फैसला किया।

 

काफी समय से उनके शहर का एक पुराना स्कूल बंद पड़ा था, जो की पूरा खंडर हो चूका था। उन्होंने काफी कहानियां सुनी थी उस स्कूल के बारे में की वह हॉन्टेड है। उसमें से किसी को भी विश्वास नहीं था कि वह जगह हॉन्टेड है। पर वे चाहते थे कि उन्हें कुछ ऐसा दिखे जिससे उन्हें डर लगे और इससे अच्छी जगह और कोई नहीं हो सकती उनके मुताबिक।

 

उनमें से एक दोस्त के पास कार थी। सभी दोस्त कार में बैठे और सीधे स्कूल की तरफ पहुँचे। स्कूल के बाहर कार पार्क कर दी। उन्होंने प्लान बनाया कि वह चार ग्रुप बनाएँगे और हर एक ग्रुप में एक लड़का और एक लड़की होगा और फिर पुरे स्कूल का एक चक्कर लगाकर वापस यही कार के पास आएँगे। जिसमे 10 मिनट एक ग्रुप को दिया जाएगा और फिर वह हमें वापस आकर बताएगा कि उन्होंने वहाँ क्या देखा। और फिर दूसरा ग्रुप स्कूल के चक्कर लगाने जाएगा।

 

पहला ग्रुप, एक लड़का और एक लड़की स्कूल के अंदर चले गए और बाकि छह दोस्त उनका वहीं कार के सामने वेट कर रहे थे। बहुत समय हो गया और छह दोस्त काफी परेशान हो गया क्यूंकि पहला ग्रुप को गए हुए 20 मिनट से ज़ादा समय हो चूका था और वह अब ता वापस नहीं आए थे।

 

अगला ग्रुप वेट करके थक चूका था तो उन्होंने फैसला किया कि वह अपना चक्कर लगाना शुरू करेंगे और साथ ही साथ पहले ग्रुप को भी ढूँढेंगे। बाकि लोग बस वेट ही करते रह गए पर दूसरा ग्रुप भी वापस नहीं आया। किसी को भी कुछ समझ नहीं आ रहा था कि यह क्या हो रहा है। वे सब सोच रहे थे कि उनके दोस्त कहीं उनके साथ मजाक तो नहीं कर रहे। अब करीबन 1 घंटा बीत चूका था पहले ग्रुप को गए हुए।

 

तीसरा ग्रुप डरते हुए अपने चारों दोस्त को ढूंढने के लिए निकल गए। पर वह भी वापस नहीं आए। अब जो एक लड़का और एक लड़की कार के पास खड़े थे, वह काफी डर गए। दोनों को कुछ समझ नहीं आ रहा था की वह क्या करें। कुछ समय बीता और लड़के ने लड़की से कहा, “मैं उन्हें ढुंडके आता हूँ और अगर मैं 30 मिनट में नहीं आया तो तुम सीधा पुलिस के पास चले जाना।” इतना कहकर वह लड़का उसके बाकि दोस्तों को ढूंढने के लिए निकल गया।

 

वह लड़की वहीं अकेली ठंड और अँधेरे में खड़ी चुपचाप सबका इंतजार कर रही थी। उसने करीबन 1 घंटे तक वहीं वेट किया। पर कोई वापस नहीं आया। वह कार में बैठी, गाड़ी चालू की और सीधा पुलिस स्टेशन  चली गई। चार पोलिसवाले उस लड़की के साथ सीधा स्कूल पहुँच गए। बस सुबह होने ही वाली थी। जैसे सूरज निकला, पुलिस ने सातों दोस्तों की तलाश शुरू कर दी। उन्होंने स्कूल का पूरा चक्कर लगाया पर उन्हें उन सातों का कोई नामोनिशान नहीं मिला। उन्होंने देखा कि स्कूल के जिम का डोर थोड़ा खुला हुआ है। पुलिस अंदर गई पर वह रूम पूरी तरह से खाली पड़ी थी।

 

उस रूम में एक अलग ही सन्नाटा सा था। पुलिस ने जिम के बाथरूम का डोर खुला और आखिरकार उन्हें वह सातों दोस्त मिल गए और सारे लोग गले से सीलिंग से लटक रहे थे। पुलिस ने उस लड़की से सवाल किए और उसने बार-बार यही कहा कि वह जो बता रही है वह सच है, वह सातों बस अपनी हिम्मत आज़माने के लिए उस खंडर में गए थे। ऐसा कोई रीज़न नहीं था कि खुदखुशी करें। कुछ हप्ते उस केस पर बिताने के बाद, पुलिस ने वह केस यह कहकर बंद कर दिया कि उन्हें कोई सबूत नहीं मिला कि उन सातों दोस्तों का किसी ने मर्डर किया हो। और पुलिस ने यह मान लिया कि उन सातों ने किसी एक ही कारण से खुदखुशी किया हो।

 

इस घटना के बाद से उस शहर में अब तक किसी की भी हिम्मत नहीं हुई कि उस पुराने खंडर में रात को जाए।

 

दोस्तों आपको यह हॉरर स्टोरी “पुराना स्कूल | Real Horror Story in Hindi” कैसी लगी निचे कमेंट करके जरूर बताएं और अगर असेही स्टोरीज पढ़ना चाहते हैं इस ब्लॉग पर तो इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें।

 

यह भी पढ़े

 

Read More Stories For Kids in Hindi

शेर और बैल की कहानी
शेर को हो गया प्यार
नन्हाँ छछूँदर
दो छोटे बच्चों की कहानी
भेड़िया और बकरी के सात बच्चे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *