लोमड़ी और अंगूर की कहानी | Fox And The Grapes Story in Hindi

 

आज की कहानी है “लोमड़ी और अंगूर की कहानी | Fox And The Grapes Story in Hindi” यह कहानी बहुत ही मजेदार है और मैं उम्मीद करती हूँ आपको यह कहानी पसंद आएगी।

 

लोमड़ी और अंगूर की कहानी

Fox And The Grapes Story in Hindi

 

एक समय की बात है, एक बहुत ही अहंकारी लोमड़ी थी। एक दिन वह अपने रिश्तेदार से मिलने गई, जो करीब के गाँव में ही रहती थी। वह चलती गई और चलती गई। लेकिन कुछ समय बाद वह थक गई और उसे प्यास भी लगने लगी।

 

चलते-चलते उसकी प्यास और भी बढ़ती गई। लोमड़ी कहने लगी, “मुझे बहुत प्यास और भूख लगी है। काश मेरे पास खाने के लिए कुछ होता। लेकिन सड़क पर तो कुछ भी नहीं है। और मुझे अभी बहुत दूर भी जाना है। ओह हो, मुझे घर में ही रहना चाहिए था।”

 

अचानक लोमड़ी ने अपनी नजर उठाई और उसे पके हुए अंगूर नजर आए। अंगूरों को देखकर लोमड़ी ने कहा, ‘यह अंगूर मीठे और रसभरे दिख रहे है, जरूर बहुत स्वादिष्ट होंगे। वाह! अब तक दिखे अंगूरों में से यह सबसे सुंदर दिखाई देते है। इन्हे चखे बिना मैं कैसे रह सकती हूँ। जरूर चखूंगी।”

 

लोमड़ी ने उन अंगूरों को पकड़ने की कोशिश की वह ऊपर कूदि। लेकिन अंगूर तक नहीं पहुँच पाई। वह फिरसे जितना ऊपर हो सके कूदि, फिर भी पहुँच न सकी। अंगूर उसके लिए बहुत ऊँचाई पर थे। वह उन्हें छू भी नहीं सकती थी।

 

परेशान होकर लोमड़ी कहने लगी, “मैं जानती हूँ कि अंगूर पके नहीं है। मैं इन अंगूरों को अब और नहीं देखूंगी। यह खट्टे हैं। चाहे यह मीठे और रसभरे दिख रहे है फिर भी यह खट्टे हैं।”

 

लोमड़ी जाना चाहती थी। लेकिन अंगूर से वह अपनी नजर हटा नहीं पाई। वह बोलने लगी, “यह अंगूर खट्टे हैं। हाँ, सचमुच खट्टे है। यह मीठे नहीं है। यह अंगूर मीठे हो ही नहीं सकते। अरे जब यह अंगूर इतने खट्टे है, तो मैं इन्हे क्यों खाऊँ?”

 

लोमड़ी वहाँ से चली गई। सायद वह जोकह रही थी उस पर उसे भरोसा नहीं था। लेकिन बेचारी लोमड़ी और कर भी क्या सकती थी।

 

कहानी से सीख, Moral of The Story:

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि कुछ लोग जो नहीं पा सकते उसे अनदेखा करते है और तिरस्कार करते हैं। पर जीवन में कुछ भी मेहनत के बिना नहीं प्राप्त होगा इसलिए मेहनत करें और अपने लक्ष को हासिल करे।

 

उम्मीद करता हूँ की आपको यह कहानी “Fox And The Grapes Story in Hindi” जरूर पसंद आई होगी। अगर पसंद आए तो इस कहानी को अपने सभी दोस्तों के साथ भी शेयर करें और नई नई कहानियां पढ़ने के लिए इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करें।

 

यह भी पढ़े:-

 

पंचतंत्र की कहानियां पढ़े 

शेरनी
मुर्गा और लोमड़ी
गधा और कुत्ता
हंस और उल्लू
एकता में ही बल है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.