धूर्त लोमड़ी की कहानी | Dhurt Lomdi Ki Story in Hindi

धूर्त लोमड़ी की कहानी | Dhurt Lomdi Ki Story in Hindi

धूर्त लोमड़ी की कहानी Dhurt Lomdi Ki Story in Hindi

 

धूर्त लोमड़ी की कहानी

एक बार एक लोमड़ी की निगाह एक हिरन पर पड़ी। धूर्त लोमड़ी ने अपने सहायता के लिए एक चूहे को बुलाया। उसके बाद एक बाघ को भी बुलाया। सबने मिलकर हिरन को मारने की योजना बनाई। चूहे ने हिरन के पैर कुतर दिए और बाघ उस पर झपट पड़ा तथा उसे मार डाला। 

 

लोमड़ी बोली, “हमें बिना नहाए कुछ नहीं खाना चाहिए। मैं तो नहा चुकी हूँ। अब नहाने की बारी तुम लोगों की है।” जब बाघ नहाकर आया तो लोमड़ी बोली, “चूहा बहुत शेखी बघार रहा था। कह रहा था कि केवल उसके कारण ही हमें यह खाना मिल पा रहा है।” बाघ को यह सुनकर बहुत बुरा लगा की केवल उसके कारन हिरन का शिकार हो पाया है इसलिए वह वहाँ से चला गया।

 

जब चूहा आया तो उससे लोमड़ी बोली, “मैंने बाघ को लड़ने की चुनौती दी थी। वह डरकर भाग गया। अब तेरी बारी है।” चूहे ने जब यह सुना तो डरके मारे भाग गया। फिर लोमड़ी ने अकेले ही हिरन का सारा माँस खाया।

 

उम्मीद करता हूँ की आपको यह कहानी “धूर्त लोमड़ी की कहानी | Dhurt Lomdi Ki Story in Hindi” जरूर पसंद आई होगी। अगर पसंद आए तो इस कहानी को अपने सभी दोस्तों के साथ भी शेयर करें और नई नई कहानियां पढ़ने के लिए इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करें।

 

यह भी पढ़े:-

 

और भी कहानियां पढ़े 

मूर्ख बंदर
बड़ी सीख
जिसकी लाठी उसकी भैंस
रेगिस्तान में पानी
गधा बेचना है

 

Follow Me on Social Media

2 thoughts on “धूर्त लोमड़ी की कहानी | Dhurt Lomdi Ki Story in Hindi”

  1. Howdy! This is my first visit to your blog! We are a group of volunteers and starting a new project in a community in the same niche.
    Your blog provided us beneficial information to
    work on. You have done a wonderful job!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *