एक हिरण की प्रेरणादायक कहानी | Motivational Story of a Deer in Hindi

एक हिरण की प्रेरणादायक कहानी | Motivational Story of a Deer in Hindi

आज के लेख में मैं आप सबके साथ जो कहानी शेयर कर रहा हूँ वह कहानी ( Motivational Story of a Deer in Hindi) जो आपकी जिंदगी बदल सकती है। आपको सिर्फ इस कहानी को शुरू अंत तक अच्छे से समझना होगा।

 

एक हिरण की कहानी

Motivational Story of a Deer in Hindi

एक बार एक जंगल में एक हिरण पानी की तलाश में इधर-उधर भटक रहा था। क्युकी उसे बहुत ही प्यास लगी थी। वह हिरन काफी समय से भटक रहा था। लेकिन उसे पानी कही पर भी नहीं मिल रहा था।

 

थोड़ी देर जंगल में इधर-उधर भटकने के बाद वह हिरन एक पेड़ के निचे बैठ गया और वहां पर बैठते ही उसे किसी नदी से पानी की आवाज सुनाई दी।

 

वह हिरन वहां से उठकर नदी की तरफ जाने लगा। थोड़ी ही आगे जाने के बाद उसे बहुत बड़ी एक नदी दिखाई देती है। वह हिरन उस नदी को देखकर बहुत ही खुश हो जाता है और उसे कोई नई जिंदगी मिल गई हो ऐसा एहसास होता है।

 

वह दौड़ते हुए उस नदी के पास जाता है और नदी के पास जाकर वह जैसे ही पानी पिने के लिए अपना सिर झुकाता है तो उसके नजर अपनी राइट साइड में पड़ती है। उसे एक शिकारी नजर आता है, जो अपने हाथ में एक तीर लिए हुए निशाना तानके खड़ा था।

 

 

कुछ समय बाद उस हिरण की नजर अपनी लेफ्ट साइड में पड़ती है तो उसे पीछे झाड़ी में एक शेर नजर आता है। अब हिरण घबड़ाकर सब कुछ भूल जाता है। उसे पानी भी याद नहीं रहता और वह बाद में पलटकर पीछे मुड़ता है। पीछे मुड़कर उसने देखा की जंगल में बहुत ही बड़ी आग लगी हुई ह, जो धीरे-धीरे उसकी तरफ बढ़ रही होती है।

 

अब हिरन जाए तो जाए कहाँ। उसे राइट में शिकारी दिख रहा था, जो निशाना तानके खड़ा था और अपने लेफ्ट में एक शेर खड़ा हुआ नजर आ रहा था, सामने गहरी और लंबी नदी थी और पीछे बहुत ही बड़ी आग लगी हुई थी। सभी रास्ते बंध हो चुके थे। उसकी चारो और से मुसीबत आ चुकी थी।

 

अब हिरन सोच में पड़ जाता है। वह चुपचाप वहां खड़ा रहता है और तुरंत ही उसके अंदर से एक आवाज आती है – “जब चारो और मुसीबत आ चुकी है अब मुझे मरना ही है तो मैं अपना काम पूरा करके क्यों न मरू, मैं अपना पानी पीके ही क्यों न मरू। ”

 

फिर हिरन आराम से पानी पिने लग जाता है। लेकिन थोड़ी ही देर बाद एक अजीब सी घटना घटती है। हिरण पानी पी रहा था की तभी अचानक आसमान में काले बादल छा जाते है और बारिश होने लगती है।

 

बारिश होने के बाद जंगल में जो आग लगी थी वह पानी से बुझ जाती है और पानी के बौछार होने के कारन शिकारी अपना निशाना चूक जाता है और वह शेर को लग जाता है। फिर शेर की नजर उस शिकारी पर पड़ जाती है और शेर उस शिकारी के पीछे लग जाता है।

 

इतने में हिरण पानी पीकर अपना सिर ऊपर उठाता है तो वह अपने राइट में देखता है की शिकारी अपनी जगह पर नहीं है, अपने लेफ्ट में शेर भी नहीं दिख रहा था और अपने पीछे मुड़कर देखा तो जो आग लगी थी वह भी नहीं दिख रही थी। हिरण को काफी आश्चर्य हुआ और वह आराम से वहां से चली गई।

 

 

दोस्तों इंसान के जिंदगी में भी जब मुसीबतें आती है तो चारो तरफ से आती है जिसके कारन इंसान डर जाता है, घबड़ा जाता है वह कोई भी डिसिशन नहीं ले पाता है। इसलिए आपकी जिंदगी में भी अगर कोई मुसीबत आए तो शांति से सोचना है और अपने अंदर की आवाज सुननी है क्युकी हमारे अंतर्मन में हर समस्या का समाधान होता है जो हमारे अंदर के दर को खत्म कर सकती है और हमें सफलता की ऊंचाई पर पहुंचा सकती है। इसलिए जब भी कोई समस्या हमें चारो और से घेर ले तो हमें डरकर या घबड़ाकर भागना नहीं है, हमें अपने अंदर उतरना है ताकि हमें उस समस्या का समाधान मिल सके। हिरन के सामने में भी समस्या थी अगर वह डरकर वहां से भागने का प्रयत्न करता तो अपनी जान से हाथ धो बैठता। लेकिन उसने शांति से सोचा और अपने काम में लग गया जिससे वह बच पाया। कई बार हमारे जीवन में भी ऐसा होता है की कामयाबी थोड़ी सी दूर रहती है और मुसीबतें दिखनी शुरू हो जाती है। कई सारी समस्याओं से हम डरकर बैठ जाते है लेकिन न ही हमें डरना है और न ही घबड़ाना है, हमें बस अपने लक्ष पर ध्यान देते रहना है। सफलता एक दिन जरूर मिलती है। 

 

दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको यह कहानी “एक हिरण की प्रेरणादायक कहानी | Motivational Story of a Deer in Hindi “ जरूर पसंद आई होगी। अगर आपको यह कहानी पसंद आई है तो निचे कमेंट करके जरूर बताएं और इसे अपने दूसरे दोस्तों या परिवार के साथ शेयर जरूर करें और हमारे इस ब्लॉग को सब्सक्राइब भी करें ताकि ऐसे ही प्रेरणादयक कहानी आपको आगे भी मिलती रहे।

 

यह भी पढ़े:-

 

Follow Me on Social Media

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *