पंचतंत्र की कहानी | किंग कोबरा और चींटियाँ | King Cobra and Ants Story in Hindi

पंचतंत्र की कहानी | किंग कोबरा और चींटियाँ | King Cobra and Ants Story in Hindi

 

King Cobra and Ants Panchatantra Story in Hindi

 

किंग कोबरा और चींटियाँ

बहुत समय पहले की बात है, एक भारी किंग कोबरा एक घने जंगल में रहता था। वह रात में शिकार करता था और दिन में सोता रहता था। धीरे-धीरे वह काफी मोटा हो गया और पेड़ के जिस बिल में वह रहता था, वह उसे छोटा पड़ने लगा। वह किसी दूसरे पेड़ की तलाश में निकल पड़ा।

 

आखिरकार, कोबरा ने एक बड़े पेड़ पर अपना घर बनाने का निश्चय किया, लेकिन उस पेड़ के तने के निचे चींटियों की एक बड़ी बाँबी थी, जिसमे बहुत सारी चींटियाँ रहती थी। वह गुस्से में फनफनाता हुआ बाँबी के पास गया और चींटियों को डाँटकर बोला, “मैं इस जंगल का राजा हूँ। मैं नहीं चाहता की तुम लोग मेरे आस-पास रहो। मेरा आदेश है की तुम लोग अभी अपने रहने के लिए कोई दूसरी जगह तलाश लो। अन्यथा, सब मरने के लिए तैयार हो जाओ!”

 

 

चींटियों में काफी एकता थी। चींटियाँ हार मानने वालो में से नहीं थी। वे कोबरा से बिलकुल भी नहीं डरीं। देखते ही देखते हजारों चींटियाँ बाँबी से बाहर निकल आई। सबने मिलकर कोबरा पर हमला बोल दिया। कोबरा के पुरे शरीर पर हजारों चींटियाँ मिलकर रेंग-रेंगकर काटने लगी! दुष्ट कोबरा दर्द के मारे चिल्लाते हुए वहां से भाग गया।

 

 

आपको यह कहानी “पंचतंत्र की कहानी | किंग कोबरा और चींटियाँ | King Cobra and Ants Story in Hindi” कैसी लगी निचे कमेंट करके जरूर बताएं और अगर अच्छा लगे तो सबके साथ शेयर भी करें।

 

यह भी पढ़े: 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *