जादुई मटका | The Magic Pot Story in Hindi

जादुई मटका | The Magic Pot Story in Hindi

The Magic Pot Story in Hindi

 

जादुई मटका

एक समय की बात है, एक गांव में एक किसान रहता था। वह हर रोज अपने खेत में जाकर खेती के काम करता था। एक दिन, वह किसान अपने खेत में गड्ढे खोद रहा था। अचानक उसे जमीन पर एक बड़ा सा मटका मिल गया। उसने वे मटका बहार निकाला। और वह सोचने लगा की इस मटके का क्या उपयोग हो सकता है। उस किसान ने वे मटका अपने बाजु में रख दिया। और फिरसे अपने खेती के काम में लग गया।

 

दो पहर के भोजन के समय, उसने अपना कुदाल उस मटके पर रख दी। और वह भोजन करने लगा। जैसे ही उसका भोजन ख़तम हुआ, तो उसे यह देखकर बहुत आश्चर्य हुआ। क्युकी उसने देखा जिस मटके में उसने अपना कुदाल रखा था, उस मटके में उसकी एक कुदाल की जगह बहुत सारी कुदाल हो गई है। किसान पूरी तरह से हैरान हो गया। उसने कहा, “मैं तो सिर्फ एक ही कुदाल ले आया था, फिर इतने सारे कुदाल कहाँ से आए। कुछ समझ नहीं आ रहा। ”

 

किसान ने सोचा यह चमत्कार जरूर इस मटके के कारन हुई है। फिर उसने सभी कुदाल बहार निकाल कर रख दी। और एक कंकर उठाकर उस मटके में डाल दिया। थोड़ी देर बाद जब उसने मटके में झांक कर देखा तो उसे मटके में बहुत सारे कंकर दिखाई दिए। तभी वह समझ गया की वे मटका एक जादुई मटका है।

 

 

वह इंसान उस मौके को अपने घर ले आया। और उसे एक महफूस जगह पर संभलकर रख दिया। उस दिन से वह किसान, रोज अपने जरूरतों को पूरा करने के लिए  वह उस मटके का इस्तेमाल करने लगा। जब भी किसान को कपडे की जरुरत पड़ती तो वह कपडे का एक छोटा टुकड़ा उस मटके में रख देता। और थोड़ी देर बाद वे मटका उसे एक बड़ा कपडा देता, जो उसकी जरुरत पूरी कर देता।

 

जब भी उसे भूक लग जाती तो वह एक फल मटके में रख देता। और वह जादुई मटका उसे बहुत सारे फल देता। इस तरह वह किसान धीरे धीरे धनबान होने लगा। पर वह किसान लालची नहीं था। किसान ने उस जादुई मटके का उपयोग कभी भी अपने लालच के लिए नहीं किया।

 

एक दिन, उसके अड़ोस पड़ोस वाले ने देखा, वह किसान धीरे धीरे और भी धनबान होता जा रहा है। उन पड़ोसियों ने इस दौलत का राज पता करने की सोची। एकदिन, उसके पडोसी किसान के घर के बहार खिड़की के पास खड़े होकर चुपके से सब देखने लगे। उन्होंने देखा की किसान ने एक चम्मच दूध उस मटके में दाल दिया। और थोड़ी देर बाद पूरा मटका दूध से भर गया।

 

 

एक दिन, उसके अड़ोस पड़ोस वाले ने देखा, वह किसान धीरे धीरे और भी धनबान होता जा रहा है। उन पड़ोसियों ने इस दौलत का राज पता करने की सोची। एकदिन, उसके पडोसी किसान के घर के बहार खिड़की के पास खड़े होकर चुपके से सब देखने लगे। उन्होंने देखा की किसान ने एक चम्मच दूध उस मटके में दाल दिया। और थोड़ी देर बाद पूरा मटका दूध से भर गया।

 

उनमें से एक पड़ोसी जादुई मटके का इस्तेमाल करने के लिए बहुत बेताब था। पर उससे पहले उसने मटके के अंदर कुछ है या नहीं यह पता करने के लिए उसने अपना हाथ उस मटके के अंदर डाला। उसने देखा की मटके के अंदर कुछ नहीं था। पर जैसे ही उसने अपना हाथ मटके से बहार निकाला वह चौक गया। उसने देखा की अब उसका एक हाथ नहीं , बल्कि उसके बहुत सारे हाथ निकल आए है।

 

वह पडोसी पूरी तरह से डर गया। जैसे ही वह पडोसी दूसरे दिन अपने घर से बहार निकला आसपास के लोग डर गए। उन्हें लगा की गांव में कोई राक्षश आ गया है। सभी गांववाले उसे पत्थर मरने लगे। और गांव वालो ने उसे घर से भगा दिया। यह सब देखकर किसान समझ गया की उसका मटका सायेद इस लालची पड़ोसी ने ही चुराया होगा। किसान को वापस अपना मटका मिल गया। और उस लालची पड़ोसी को हमेशा के लिए उस गांव निकाला दिया गया।

 

 

तो दोस्तों, इस कहानी को पढ़ने के लिए धन्यवाद। आपको यह कहानी “जादुई मटका | The Magic Pot Story in Hindi” पढ़कर कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताये। अगर आपको कहानियां पड़ना पसंद है तो प्लीज इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करे।

 

 

यह भी पढ़े:-

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *