पबित्र सांप | The Holy Snake Story in Hindi

पबित्र सांप

The Holy Snake Story in Hindi

बहुत समय पहले, एक छोटे से गाओं में एक गरीब ब्राह्मण किसान बिष्णुदत्त रहता था। वे बोहोत मेहनत करता था लेकिन ज़ादा कमाई नहीं कर पाता था। उसका बेटा सोमदत्त हमेशा उनसे अधिक पैसे मांगते रहते थे। एकदिन बिष्णुदत्त ने कहा, “बीटा तुम्हारे पास जितना है उसी से संतुष्ट रहो।”

 

एकदिन, बिष्णुदत्त अपने काम के बाद खेत में आराम कर रहा था। अचानक, उसने पास के एक पर्बत पर एक सांप को देखा। बिष्णुदत्त को देखते ही, सांप सहसा उठा और अपने गर्दन को ऊंचा करके बैठ गया। बिष्णुदत्त ने सोचा, “यह बहुत शांत और शांतिपूर्ण दीखता है। हो सकता है की यह एक देबता हो।” वे अपने घर से दूध का कटोरा लाया और उस सांप को चढ़ाया।

 

 

अगली सुबह, जब बिष्णुदत्त कटोरा लेने आया, तो उसे एक सोने का सिक्का मिला। उसने कहा, “मुझे यकीन हैं की यह एक पबित्र सांप हैं।” उस दिन से सांप को प्रार्थना और दूध चढ़ाने के लिए यह एक नियमित अभ्यास बन गया और हर सुबह उसे पहाड़ के पास कटोरे में एक सिक्का मिलता। इसने बिष्णुदत्त को बहुत अमीर आदमी बना दिया।

 

एक बार, जब बिष्णुदत्त किसी काम से बाहर गया तो उसके बेटे सोमदत्त को सांप के पास दूध का कटोरा रखना पड़ा। हमेशा की तरह, पर्बत के पास कटोरे में एक सोने का सिक्का मिला। सोमदत्त ने सोचा, “मुझे लगता है की इस पर्बत के निचे सोने के सिक्के का खजाना होगा। अगर मैं इस सांप को मारकर पर्बत के निचे जाकर खोदुंगा तो मुझे वे सारा सोने का सिक्का मिल जायेगा!” सोमदत्त के दिमाग पर सिर्फ सोने का सिक्का घूम रहा था और वे सांप को मारने के लिए चला गया। सांप ने सोमदत्त को काट लिया और सीधा अपने घर भाग गया।

 

 

जब बिष्णुदत्त घर आया तो उसकी पत्नी से उसे सब कुछ बताया। बिष्णुदत्त ने अपने बेटे से कहा, “मैंने तुम्हे हमेशा लालच के खिलाफ चेताबनी दी हैं और तुमने ऐसा काम कर दिया।” सोमदत्त पबित्र सांप की और भागा। हाथ जोड़कर पबित्र सांप से माफ़ी मांगी और दूध चढ़ाया।

 

लेकिन इस बार पबित्र सांप ने इसे स्वीकार नहीं किया। पबित्र सांप ने कहा, “मैंने आपके दया के कारन आपके बेटे के जीबन को बख्शा। उसके लालच की कीमत आपको चुकानी पड़ेगी। मैं तुम्हारी कोई मदद नहीं कर सकता।” यह कहते ही पबित्र सांप गायब हो गया।

 

 

तो दोस्तों “पबित्र सांप | The Holy Snake Short Hindi Story” इस कहानी को पढ़कर आपको कैसा लगा वे आप कमेंट में जरूर बताये और ऐसेही मजेदार कहानियां पड़ने के लिए इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करे।

 

यह भी पढ़े:-

 

2 thoughts on “पबित्र सांप | The Holy Snake Story in Hindi

  1. Maggie Reply

    Amazing! Its genuinely awesome piece of writing, I have got much clear idea about from this
    paragraph.

Leave a Reply

Your email address will not be published.