Motivational Stories in Hindi

बोले हुए शब्द कभी वापस नहीं आते | Motivational Stories in Hindi

बोले हुए शब्द कभी वापस नहीं आते Motivational Stories in Hindi

 

 तो दोस्तों, आज के पोस्ट में मैं आप सबको एक ऐसी कहानी शेयर करने वाली हूँ जिस कहानी के जरिये आप यह समझ पाएंगे की जब भी आप किसी इंसान को बिना समझे बुरा भला कह देते है, जिससे की उसके मन को ठेस पहुंचे तो आपकी जवान से निकले हुए शब्द कभी भी वापस नहीं आ सकते है और वह शब्द उस इंसान को जिंदगी भर तकलीफ पहुंचाती रहेगी। तो दोस्तों, चलिए कहानी को शुरू करते है।

 

बोले हुए शब्द कभी वापस नहीं आते – Motivational Stories in Hindi

एक बार की बात है, एक दोस्त ने अपने दूसरे दोस्त को उसकी किसी बात पर गलती नहीं होने के बाद भी गलतफैमी के कारण उसे काफी बुरा भला सुना देता है और उसे काफी ताने मारे। इससे उसके दोस्त को काफी ज्यादा बुरा लगा और वह रोता हुआ वहाँ से चला गया। उसके बाद, जब वह लड़का अपने घर वापस गया तब उसे वहाँ पर जाकर सच्चाई का और पूरी बात का पता चला की असल में क्या बात थी और उसने कितनी बड़ी गलती कर दी अपने दोस्त को इतना बुरा भला कहकर। तब उस लड़के ने अपने पापा से कहा, “पापा, मैं ऐसा क्या करूँ जिससे की मेरे बोले हुए शब्द वापस आ जाए? और मैं अपने दोस्त को मना लू।”

 

तब इस पर उस लड़के के पापा ने उससे कहा, “घर से बाहर जाओ और एक मुट्ठी में मिटटी भरकर ले आओ।” वह लड़का घर से बाहर गया और एक मुट्ठी में मिटटी भरकर ले आया। तब उसके पापा ने कहा, “जाओ और इस एक मुट्ठी मिटटी को छद के उपर रखकर आ जाओ।” वह लड़का मिटटी को छदके उपर रखकर आया और फिर अपने पापा से पूछा, “पापा अब मैं क्या करूँ?” तब उसके पापा ने उससे कहा, “अब कल सुबह जाकर तुम इस मिटटी को वापस मेरे पास लेकर आना। लड़के ने कहा, “ठीक है पापा।”

 

अगले दिन, जब वह लड़का छदके उपर वापस गया तो वहाँ पर वह देखता है की रात को जब हवा चली तो वहाँ से वह सारी की सारी मिटटी उड़ गई और वहाँ पर अब कुछ भी नहीं बचा था। फिर वह लड़का अपने पापा के पास वापस आया। उसने अपने पापा से कहा, “पापा, अब तो उस जगह पर मिटटी है ही नहीं, वहाँ से सब कुछ उड़ चुकी है। तो अब मैं उसे वापस कैसे लेकर आयूं।”

 

इस पर उसके पापा ने उसे सीख देते हुए कहा, “बेटा, जैसे यह मिटटी तुमने वहाँ पर रखी थी, वह उड़ गई और अब तुम इसे वापस नहीं लेकर आ सकते, वैसे ही तुमने जो तुम्हारे दोस्त को जो बुरे भले शब्द कहे थे जिससे उसे बहुत ज्यादा पीड़ा हुई थी, वह शब्द अब वापस नहीं आ सकते। पर हाँ तुम एक चीज कर सकते हो की तुम जाकर उससे माफ़ी मांग सकते हो और उससे यह वादा कर सकते हो की तुम आयेंदा पूरी जिंदगी में कभी भी उसे तकलीफ नहीं पहुँचाओगे और उसके हर बात पर पूरा भरोसा करोगे।

 

तो दोस्तों इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है की हमें कभी भी अपने जवान से बोलते समय बहुत ही ज्यादा सोच-समझकर बोलना चाहिए, क्यूंकि हमारे जवान से एक बार जो शब्द निकल जाते है उन शब्दों का वापस आना संभब नहीं है। इसलिए हमें कभी भी किसी को बुरा नहीं कहना चाहिए।

 

तो दोस्तों मुझे उमीद है की आपको यह कहानी “बोले हुए शब्द कभी वापस नहीं आते  Motivational Stories in Hindi” कैसी लगी निचे कमेंट करके जरूर और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब भी करें।

 

यह भी पढ़े:-

 

Follow Me on Social Media

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *