The Camel and Her Baby Story in Hindi

ऊंट और उसका बच्चा | The Camel and Her Baby Story in Hindi

 

ऊंट और उसका बच्चा  The Camel and Her Baby Story in Hindi

 

ऊंट और उसका बच्चा

एक दिन ऊंटनी और उसका बच्चा बातें कर रहे थे। उस बच्चे ने पूछा, “माँ, हमारे कूबड़ क्यों होते है?” उसके माँ ने जवाब दिया, “हमारा कूबड़ खाना जमा करने के लिए होता है ताकि हम रेगिस्तान में भी जी सकें।’
 
 
उस बच्चे ने कहा, “ओह! और हमारे गोल पैर का पंजा क्यों होता है माँ?”
 
 
माँ ने जवाब दिया, “ताकि वे हमें रेगिस्तान में आराम से चलने के लिए मदद करें।”
 
 
उस बच्चे ने फिर से पूछा, “ठीक है, पर हमारी आँखों के पलके इतनी लंबी क्यों होती है?” 
 
 
उस माँ ने जवाब दिया, हमारी आँखों को रेगिस्तान की धूल और रेत से बचाने के लिए?”
 
 
उस ऊंटनी के बच्चे ने कुछ समय तक सोचा और फिर बोला, “तो हमारा कूबड़ है खाना स्टोर करने के लिए और रेगिस्तान की यात्रा करने के लिए। गोल पैर है हमें कम्फर्टेबल रखने को, जब हम रेगिस्तान की रेत में चलते है और लंबी पलके है रेगिस्तानी तूफान के दौरान धूल से और रेत से सुरक्षा करने के लिए। तब हम एक चिड़िया घर में क्या कर रहे है?”
 
 
यह सुनकर माँ गूंगी हो गई थी। उसके पास कोई जवाब नहीं था। 
 
 

 

शिक्षा – अगर आप सही जगह पर नहीं है तो आपकी ताकत, कौशल और ज्ञान बेकार है। 
 
 
तो दोस्तों आपको यह कहानी “The Camel And Her Baby Story In Hindi | Moral Story In Hindi” कैसी लगी, निचे कमेंट करके जरूर बताए और असेही मजेदार और नैतिक कहानियां पढ़ने के लिए इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करें। 
 
 

यह भी पढ़े:-

 

 

Follow Me on Social Media

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *