तीन मछली की कहानी | The Three Fishes Story in Hindi

तीन मछली की कहानी | The Three Fishes Story in Hindi

The Three Fishes Story in Hindi

 

तीन मछली की कहानी

 बहुत दिनों की बात है, तीन मछलियां एक खूबसूरत तालाब में रहते थे। वे तीनों बहुत अच्छे दोस्त थे। वे सारादिन तालाब में खेलते रहते थे और अपना समय बिताते थे।
एक दिन, दो मछुआरे तालाब के पास आए पानी पिने के लिए तब उन्होंने देखा की उस तालाब में बहुत मछलियां तेर रही है।
एक मछुआरे ने कहा, “देखो इस तालाब में कितना सारा मछली हैं।” दूसरे मछुआरे ने कहा, “हा तुम ठीक कहे रहे हो। चलो कल हम अपने जालों के साथ यहाँ वापस आते है और इन मछलियों को पकड़ते है। इन्हे बाजार में बेचकर हम अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं।
 तीनों मछलियों ने उन मछुआरे की बातें सुन ली। पहले मछली ने कहा, “हमे लगता है की हमे इस तालाब को छोड़कर चले जाना चाहिए। तुम लोग क्या कहते हो? ” दूसरे मछली ने कहा, “नहीं। मैं इस तालाब को छोड़कर कही नहीं जाऊँगी। ” तीसरे मछली ने भी जाने से इंकार कर दिया। पहले मछली ने उस तालाब को छोड़कर पास के एक झील में चला गया।
दूसरे दिन, दो मछुआरे अपना जालों के साथ उस तालाब में पहुंच गए। दोनों मछुआरे ने मछलियों को पकड़ने के लिए तालाब में अपना जाल फेका। सभी मछलियां उस जाल में फस गयी।
दूसरा दोस्त छटपटाने लगा। तीसरा दोस्त चुपचाप पड़ा रहा। हिला तक नहीं। मछुआरे को लगा की वे मछली मर गयी है। इसलिए मछुआरे ने  मछली को पानी में फेक दिया। इस तरह मछुआरे ने उसके एक दोस्त को बाकि मछलियों के साथ पकड़ लिया।
शिक्षा – दोस्तों इस कहानी से हमे यह सीख मिलता है की बुद्धि हो तो हम किसी भी मुश्किल से निकल सकते है। 
तो दोस्तों  आप सबको यह कहानी “तीन मछली की कहानी | The Three Fishes Story in Hindi” कैसी लगी कमेंट के जरिये जरूर बताये और असेही मजेदार कहानियापड़ने के लिए इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें।

और भी कहानियां पढ़े 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *