You are currently viewing तीन मछली की कहानी | The Three Fishes Story in Hindi
The Three Fishes Story in Hindi

तीन मछली की कहानी | The Three Fishes Story in Hindi

तीन मछली की कहानी  The Three Fishes Story in Hindi

 

तीन मछली की कहानी

 बहुत दिनों की बात है, तीन मछलियां एक खूबसूरत तालाब में रहते थे। वे तीनों बहुत अच्छे दोस्त थे। वे सारादिन तालाब में खेलते रहते थे और अपना समय बिताते थे।
एक दिन, दो मछुआरे तालाब के पास आए पानी पिने के लिए तब उन्होंने देखा की उस तालाब में बहुत मछलियां तेर रही है।
एक मछुआरे ने कहा, “देखो इस तालाब में कितना सारा मछली हैं।” दूसरे मछुआरे ने कहा, “हा तुम ठीक कहे रहे हो। चलो कल हम अपने जालों के साथ यहाँ वापस आते है और इन मछलियों को पकड़ते है। इन्हे बाजार में बेचकर हम अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं।
 तीनों मछलियों ने उन मछुआरे की बातें सुन ली। पहले मछली ने कहा, “हमे लगता है की हमे इस तालाब को छोड़कर चले जाना चाहिए। तुम लोग क्या कहते हो? ” दूसरे मछली ने कहा, “नहीं। मैं इस तालाब को छोड़कर कही नहीं जाऊँगी। ” तीसरे मछली ने भी जाने से इंकार कर दिया। पहले मछली ने उस तालाब को छोड़कर पास के एक झील में चला गया।
दूसरे दिन, दो मछुआरे अपना जालों के साथ उस तालाब में पहुंच गए। दोनों मछुआरे ने मछलियों को पकड़ने के लिए तालाब में अपना जाल फेका। सभी मछलियां उस जाल में फस गयी।
दूसरा दोस्त छटपटाने लगा। तीसरा दोस्त चुपचाप पड़ा रहा। हिला तक नहीं। मछुआरे को लगा की वे मछली मर गयी है। इसलिए मछुआरे ने  मछली को पानी में फेक दिया। इस तरह मछुआरे ने उसके एक दोस्त को बाकि मछलियों के साथ पकड़ लिया।
शिक्षा – दोस्तों इस कहानी से हमे यह सीख मिलता है की बुद्धि हो तो हम किसी भी मुश्किल से निकल सकते है। 
तो दोस्तों  आप सबको यह कहानी “तीन मछली की कहानी  The Three Fishes Story in Hindi” कैसी लगी कमेंट के जरिये जरूर बताये और असेही मजेदार कहानियापड़ने के लिए इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें।

और भी कहानियां पढ़े 

Sonali Bouri

मेरा नाम सोनाली बाउरी है और मैं इस साइट की Author हूँ। मैं इस ब्लॉग Kahani Ki Dunia पर हिंदी कहानी , प्रेरणादायक कहानी, सक्सेस स्टोरीज, इतिहास और रोचक जानकारियाँ से सम्बंधित लेख पब्लिश करती हूँ हम आशा करते है कि आपको हमारी यह साइट बेहद पसंद आएगी।

This Post Has 2 Comments

  1. Melisa

    This info is worth everyone’s attention. Where can I find out more?

  2. Anglea

    Generally I do not read article on blogs, however I wish to say that this write-up
    very pressured me to take a look at and do it! Your writing style
    has been surprised me. Thanks, quite nice post.

Leave a Reply